अजमेर में लगाए जाएंगे 6 लाख पौधे, जिलास्तरीय वन महोत्सव संपन्न - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

अजमेर में लगाए जाएंगे 6 लाख पौधे, जिलास्तरीय वन महोत्सव संपन्न

अजमेर। श्रावण मास के पहले दिन अजमेर जिले में 6 लाख पौधों के रोपण की पावन शुरूआत हो गई है। वन विभाग द्वारा स्थापित किए जाने वाले वृक्ष कुजों, महात्मा गांधी नरेगा एवं अन्य योजनाओं के तहत पौधों का रोपण किया जाएगा। इन पौधों की देखरेख, संरक्षण, पानी एवं अन्य सुविधाओं की सुनिश्चितता करने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों की अध्यक्षता में स्थानीय कमेटियां भी गठित की जाएंगी। यह कमेटियां इन पौधों की समस्त देखरेख का कार्य संभालेगी।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के निर्देश पर आज  अजमेर में श्रावण मास के पहले दिन जिला स्तर वन महोत्सव किशनगढ़ में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए कहा कि वृक्षारोपण एक ऐसा सशक्त माध्यम है जिससे हरियाली के साथ साथ खुशहाली भी आती है। हमारे आसपास जितनी अधिक हरियाली होगी। उतना ही अधिक हमारे जीवन में खुशहाली आएगी। हरियाली तनाव से भी मुक्ति दिलाती है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का लगातार प्रयास है कि लगातार प्रयास है कि प्रदेश का हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़े । इसके लिए मुख्यमंत्राी जल स्वावलंबन अभियान जैसा अभिनव प्रयोग राजस्थान में किया गया है। प्रदेश के विभिन्न पेयजल ब्लाॅकों में भू-जल का स्तर तो बढ़ा ही है। इसके साथ ही हरियाली भी अब दिखायी देने लगी है। उन्होंने खेजड़ी की रक्षा के लिए खेजडली गांव के लोगों का उदाहरण देते हुए आव्हान किया कि हम भी अपने जीवन में वृक्ष लगाने के लिए गंभीरता से प्रयास करें।

किशनगढ़ विधायक भागीरथ चौधरी ने कहा कि एक वृक्ष लगाना एक यज्ञ के बराबर पुण्य का कार्य होता है। हमें यह समझना होगा कि बिना पर्यावरण की रक्षा के हम भी नही बचेंगे। प्रकृति से छेड़छाड़ और पेड़ों की अंधाधुंध कटाई अंततः हमें ही भारी पडे़गी। मुख्यमंत्री राजे ने यह जो अभियान शुरू किया है। वह राजस्थान की तकदीर और तस्वीर बदलने वाला साबित होगा। वन विभाग के अतिरिक्त मुख्य वन संरक्षक समीर कुमार दुबे ने विभाग द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।

जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने जिले में वृक्षारोपण अभियान की जानकारी देते हुए कहा कि अजमेर में विभिन्न स्थानों पर इस वर्ष 6 लाख पौधें लगाए जाएगें। मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान एक जन क्रांति के रूप मंे आगे बढ़ रहा है। अब तक जिले के 216 गांवों में अभियान के तहत कार्य कराएं जा चुके है। जिले में वृक्षारोपण का कार्य भी बड़े पैमाने पर किया जाएगा। वन विभाग द्वारा 33 वृक्ष कंुज तैयार करवाए जा रहे है। किशनगढ़ के वृक्ष कुंज में पांच हजार वृक्षों के पौधे रोपित किए जाएंगे। महात्मा गांधी नरेगा, मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान सहित अन्य विभागों के सहयोग से जिले में पौधा रोपण किया जाएगा। वृक्ष कुंजों की जिम्मेदारी स्थानीय जनप्रतिनिधियों की अध्यक्षता में गठित कमेटी को दी जाएंगी।

अध्यक्ष प्रो. बी.पी.सारस्वत ने कहा कि यह अभियान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की पावन भावना से जुड़ा हुआ है। खेत का पानी खेत में, गांव का पानी गांव में रहेगा तो निश्चित रूप से हरियाली भी बढ़ेगी। उन्होंने पर्यावरण की रक्षा और प्रदूर्षण से मुक्ति के लिए वृक्ष लगाने का आव्हान किया ।

कार्यक्रम में  जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, आमजन एवं विद्यार्थियों द्वारा सामरिया हरड़ा वन खण्ड में पौधारोपण किया गया । इस अवसर पर जिला प्रमुख वंदना नोगिया सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि एवं आमजन उपस्थित थे।

वन महोत्सव के तहत सोमवार को जिले के समस्त उपखण्ड, ब्लाॅक एवं ग्राम पंचायत स्तर पर भी विभिन्न आयोजन किए गए। जहां अधिकारियों, कर्मचरियों एवं जनप्रतिनिधियों ने उत्सहापूर्वक भाग लेकर पौधारोपण किया।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.