मौसमी बीमारियों पर रखी जाए विशेष नजर : जिला कलेक्टर - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

मौसमी बीमारियों पर रखी जाए विशेष नजर : जिला कलेक्टर

अजमेर। जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने सोमवार को विभिन्न विभागों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक में मौसमी बीमारियों पर विशेष नजर रखने के निर्देश प्रदान किए।

गोयल ने कहा कि बारिश के मौसम में मौसमी बीमारियों के प्रकोप की संभावना रहती है। इनसे बचने के लिए जिले में विशेष सतर्कता बरती जानी चाहिए। पेयजल के स्त्रोतों की साफ सफाई पर ध्यान दिया जाए। सप्लाई किए जाने वाले पानी का फिल्टरेशन तथा क्लोरीनेशन किया जाना आवश्यक है। जिले की समस्त एएनएम के द्वारा अपने क्षेत्र के पेयजल की नियमित जांच की जानी चाहिए। इनके द्वारा क्षेत्र में पीने का पानी उपयोग लेने वाले विभिन्न जल स्त्रोतों की रैण्डमली जांच की जानी चाहिए। एएनएम के द्वारा तालाब, व्यक्तिगत टांकों तथा सार्वजनिक जल प्रणाली के पानी की जांच की जाएगी। जांच के लिए आवश्यक उपकरण विभाग के द्वारा उपलब्ध करवाए गए है। एएनएम के द्वारा साप्ताहिक रिपोर्ट तैयार कर जिला मुख्यालय को भेजी जाएगी।

उन्होंने कहा कि अवैध कनेक्शन, अवैध विज्ञापन एवं सम्पत्ति विरूपण सहित विभिन्न प्रकरणों में सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले असामाजिक तत्वों के विरूद्ध संबंधित अधिनियम केे अन्तर्गत कार्यवाही अमल में लायी जाएगी। अजमेर, पुष्कर, सिटी ट्रांसपोर्ट कम्पनी के प्रभावी संचालन के लिए पूर्णकालिक मुख्य कार्यकारी अधिकारी की नियुक्ति के लिए संभावनाएं तलाशी जाएगी। अजमेर शहर के 56 वार्डों के खुले में शौच से मुक्त होने के पश्चात शेष बचे 4 वार्डों को भी खुले में शौच से मुक्त करवाया जाए।

उन्होंने निर्देशित किया कि नौसर घाटी की पहाड़ियों पर आनासागर का अतिरिक्त पानी पहुंचाकर सदैव हरी रखने के कार्य में तेजी लाए जाए। वन विभाग द्वारा इा क्षेत्र में लगभग 30 हजार पेड़ लगाए जाएंगे। इन पेड़ों को पानी उपलब्ध करवाने के लिए आनासागर का पानी पम्प करके पहाड़ी पर चढ़ाया जाएगा। पहाड़ी पर स्टोरेज टेंक भी बनाए जाएंगे। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग इस परियोजना का संशोधित तकमीना बनाएगा। पुष्कर स्थित हर्बल गार्डन को एक नया पर्यटक स्थल बनाने के लिए वन विभाग के उप वन संरक्षक श्री अजय चितौड़ा को निर्देशित किया गया। हर्बल गार्डन के संबंध में जागरूकता पैदा करने के लिए आईईसी गतिविधियां संचालित की जाए।

उन्होंने कहा कि अजमेर शहरी क्षेत्रा में स्मार्ट सिटी परियोजना के अन्तर्गत राजकीय विद्यालयों में एड्यूकाॅम के माध्यम से स्मार्ट क्लास लगवायी जाएगी। इन स्मार्ट क्लासेज के लिए प्रस्ताव संबंधित विद्यालय के द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से भिजवाए जाएंगे। जिले में निर्माधाधीन राजकीय भवनों की गुणवत्ता एवं उपयोगिता सुनिश्चित करने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है। राजकीय भवन को काम लेने वाले विभाग के अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है। इनके द्वारा निर्माणधीन भवन का नियमित निरीक्षण किया जाएगा।

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलेक्टर किशोर कुमार, अबु सूफियान चौहान, अरविंद कुमार सेंगवा, जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय माथुर सहित समस्त विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.