Header Ads

Video : इस्तीफे के बाद फिर से मुख्यमंत्री बनने पर क्या बोले बिहार के सीएम नीतीश कुमार

Nitish Kumar, Oath Ceremony, Bjp Jdu Alliance, NDA, Rjd, BJP, Nitish Kumar Oath, Cm Nitish Kumar, Sushil Kumar Modi, Bihar, Nitish Becomes NDA Leader, Nitish Kumar News. Lalu Prasad Yadav, Patna, Nitish Kumar Resigns, Bihar CM, Bihar Governor, Tejashwi Yadav, Nitish Kumar Quits, Nitish Kumar oath Ceremony, Nitish Kumar Swearing in, NDA Govt in Bihar, bihar crisis, RJD-JDU crisis, lalu yadav, Sushil Kumar Modi, Bihar News
पटना। महागठबंधन सरकार में बिहार के मुख्यमंत्री पद से कल इस्तीफा देने के 15 घंटे के बाद ही आज नीतीश कुमार ने एक बार फिर से बिहार के सीएम के पद की की शपथ ली है। उन्होंने राज्य में छठी बार बतौर सीएम पद की शपथ ली। राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने यहां बीजेपी नेता सुशील मोदी को भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। शपथ के बाद नीतीश ने कहा कि मैंने बिहार के हित में यह फैसला लिया है।

नीतीश कुमार के साथ ही बीजेपी नेता सुशील मोदी बिहार के उपमुख्यमंत्री बनाए गए हैं। बिहार के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने दोनों को शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर दोनों को बधाई दी। 28 जुलाई को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधानसभा के विशेष सत्र में विश्वास मत प्राप्त करेंगे। नई राज्य कैबिनेट ने विशेष सत्र की स्वीकृति दी।

समारोह में केन्द्रीय मंत्री जेपी नड्डा और भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद नीतीश कुमार ने कहा मैंने बिहार के हित में फैसला लिया है, समय आने पर सबको जवाब दूंगा। वहीं डिप्टी सीएम सुशील मोदी बोले कि विकास हमारी प्राथमिकता है, बिहार को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।

नीतीश ने कहा कि, हमने जो भी फैसला किया है वह बिहार और इसकी जनता के पक्ष में होगा। यह विकास और न्याय सुनिश्चित करेगा। यह प्रगति सुनिश्चित करेगा। यह सामूहिक निर्णय है, मैं यह सुनिश्चित करता हूं कि हमारी प्रतिबद्धता बिहार की जनता के प्रति है। गौरतलब है कि नीतीश कुमार ने कल रात मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस फैसले के पीछे की वजह राजद सुप्रीमो के बेटे तेजस्वी यादव के साथ उनकी तनातनी को माना जा रहा था। इस तनातनी की मुख्य वजह तत्कालीन उप मुख्यमंत्री तेजस्वी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप थे।

वहीं दूसरी ओर, नीतीश कुमार के भाजपा के साथ गठबंधन करने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। पत्रकारों के साथ बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि मुझे कुछ महीने पहले नीतीश कुमार मिले थे। मुझे पहले से ही पता था ये खिचड़ी पक रही है। तीन से चार महीने पहले से ये सब चल रहा था। सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

इसके साथ ही लालू प्रसाद यादव ने नीतीश के कफन में जेब नहीं होती वाले बयान पर कहा कि नीतीश के कफन में जेब नहीं बल्कि झोला है। इस दौरान लालू ने सुशील मोदी पर भी घोटाले करने के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि सुशील मोदी ने बड़े-बड़े घोटलाों को अंजाम दिया है। सुशील मोदी नीतीश की स्टेपनी हैं। लालू ने कहा कि नीतीश को मैंने शिव की तरह पूजा, लेकिन वह भारी भस्मासुर निकले। मोदी और नीतीश ने मिलतर पूरा चक्रव्यू रचा था।

लालू ने कहा कि विधानसभा चुनावों में बड़ी पार्टी होने के बावजूद मैंने नीतीश को मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठाया, लेकिन नीतीश कुमार से सरकार नहीं चल पाई। उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि नीतीश ने शराबबंदी का भी ढोंग किया है। राज्य में दारू की होम डिलिवरी हो रही है, सबको पांच-पांच बोतले मिल रही हैं। राज्य में दूसरे राज्यों से दारू आ रही है। इसके साथ ही लालू ने ये भी कहा कि मुझे मिल रही सजा के पीछे नीतीश का हाथ है।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.