Header Ads

प्रो.जाट को मुख्यमंत्री ने दी अंतिम विदाई, परिवार को दी सांत्वना हजारों लोगों की आंखे हुई नम

अजमेर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केन्द्र व राज्य के कई मंत्रियों तथा हजारों लोगों ने गुरूवार को नम आंखों से पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं राज्य किसान आयोग के अध्यक्ष प्रो. सांवरलाल जाट को अंतिम विदाई दी। प्रो. जाट के पैतृृक गांव अजमेर के गोपालपुरा में राजकीय सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि की गई। उनका बुधवार को नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया था।

राजे ने प्रो. जाट के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी और दुखः की इस घड़ी में उन्हें सम्बल प्रदान करने की शक्ति देने की ईश्वर से प्रार्थना की। इससे पहले मुख्यमंत्री ने प्रो. जाट के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से राज्यसभा सांसद भूपेन्द्र यादव ने पुष्पचक्र अर्पित किया।

किसान नेता के रूप में विख्यात रहे प्रो. जाट का पार्थिव शरीर गुरूवार को जयपुर से उनके पैतृक गांव गोपालपुरा लाया गया था। इस बीच रास्ते में दर्जनों स्थानों पर जन समूह ने अपने प्रिय नेता के अंतिम दर्शन कर उन्हें विदाई दी। गोपालपुरा में उनके निवास पर धार्मिक रीति रिवाज के बाद पार्थिव शरीर को गांव में ही श्मशान स्थल पर लाया गया। जहां हजारों लोगों ने सांवरलाल अमर रहे,  जब तक सूरज चांद रहेगा, सांवरलाल तेरा नाम रहेगा, अजमेर का एक ही लाल सांवरलाल-सांवरलाल जैसे नारों के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी। प्रो. जाट के पार्थिव शरीर को उनके पुत्रा कैलाश और रामस्वरूप सहित अन्य परिजनों ने मुखाग्नि दी।

मुख्यमंत्री राजे ने गोपालपुरा पहुंचकर प्रो. जाट की धर्मपत्नी नर्बदा देवी से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी। उनके साथ केन्द्रीय मंत्री सीआर चौधरी, राज्य के गृह मंत्री गुलाब चन्द कटारिया, परिवहन मंत्री युनूस खान, नगरीय विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी, शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी, सांसद दुष्यंत सिंह एवं सुमेधा नंद, विधायक अशोक परनामी, सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी प्रो. जाट के निवास पर पहुंचे और शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया।

इससे पहले गोपालपुरा गांव के राजकीय विद्यालय में प्रो. जाट का पार्थिव शरीर आमजन के अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। हजारों लोगों ने अपने लोकप्रिय नेता को नमन किया। राज्य मंत्रिमंडल के सदस्य राजेन्द्र सिंह राठौड़, प्रभुलाल सैनी, अरूण चतुर्वेदी, राजपाल सिंह शेखावत, सुरेन्द्र गोयल, राजकुमार रिणवां, हेमसिंह भड़ाना, डाॅ. रामप्रताप, अजय सिंह किलक, अनिता भदेल, कृष्णेन्द्र कौर दीपा, कमसा मेघवाल, संसदीय सचिव सुरेश सिंह रावत एवं शत्राुघ्न गौतम, राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष औंकार सिंह लखावत, अजमेर डेयरी के अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी, मुख्य सचेतक कालूलाल गुर्जर, विधायक रामलाल जाट व अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.