Header Ads

गुजरात राज्यसभा चुनाव : हाईवोल्टेज पॉलीटिकल ड्रामा के बीच कैसे आधे वोट से जीते अहमद पटेल, जानिए पूरा घटनाक्रम

Rajya Sabha Elections, ahmed patel, amit shah, Smriti Irani, Balwant Singh, Sharad Panwar, Ncp, Congress, BJP, Latest Hindi, news hindi, news news in hindi, Gujarat Rajya sabha election
अहमदाबाद। कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले अहमद पटेल ने जीत दर्ज कर राज्यसभा में अपनी जगह हासिल की है। पटेल को कुल 44 वोट मिले, वहीं भाजपा की ओर से अमित शाह और स्मृति ईरानी ने भी राज्यसभा में अपनी सीट पक्की की है। राज्यसभा के लिए गुजरात की तीन सीटों पर हुए मतदान में अहमद पटेल के 44 वोटों के अलावा स्मृति ईरानी को 46, अमित शाह को 46 और बलवंत सिंह राजपूत को 38 वोट मिले हैं। ऐसे में भाजपा के अमित शाह और स्मृति ईरानी जीत दिलाने में भाजपा कामयाब हुई, लेकिन कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले बलवंत सिंह राजपूत को पास कराने में फेल हो गई।

चुनाव आयोग तक मामला पहुंचने के बाद शाम 5 बजे से लेकर पूरी रात चल हाईवोल्टेज पॉलीटिकल ड्रामे का अंत आखिरकार उस वक्त हुआ जब देर रात शुरू हुई वोटों की मतगणना के बाद कांग्रेस के अहमद पटेल की जीत की घोषणा की गई। इससे पहले चुनाव आयोग ने कांग्रेस की मांग को मानते हुए कांग्रेस के दो बागी विधायकों के वोटों को रद्द कर दिया था और मतगणना शुरू करने के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद काफी देर तक भाजपा ने अपनी शिकायत पर कार्यवाही नहीं होने की बात कहते हुए काउंटिंग शुरू नहीं होने दी थी, लेकिन बाद में काउंटिंग शुरू हुई और करीब पौने दो बजे के आसपास अहमद पटेल की जीत का ऐलान हुआ।

ये है वोटों का गणित :
चुनाव आयोग द्वारा कांग्रेस के दो बागी विधायकों के वोट रद्द कर दिए जाने के बाद 174 वोटों की गिनती हुई, जिसके बाद अहमद पटेल को जीत के लिए 43.51 वोट की दरकार थी। अहमद पटेल को इससे महज आधा वोट ज्यादा मिला यानी उन्हें 44 वोट मिले और वो जीत गए। जबकि दूसरी तरफ अमित शाह और स्मृति ईरानी को 46-46 वोट मिले। वहीं कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले बलवंतसिंह राजपूत को 38 वोट मिले और अहमद पटेल के सामने वे चुनाव हार गए। ऐसे में भाजपा के अमित शाह की बलवंतसिंह को जिताने की कोशिशें फेल हो गई और अहमद पटेल राज्यसभा पहुंचने में आधे वोट से पास हो गए।

यूं चला हाईवोल्टेज पॉलीटिकल ड्रामे का पूरा घटनाक्रम :

  • मंगलवार सुबह 9 बजे शुरू वोटिंग हुई, जो दोपहर करीब 2 बजे तक चली। 
  • इसके बाद शाम पांच बजे से मतगणना होने थी, लेकिन उससे पहले ही कांग्रेस ने क्रॉस वोटिंग की बात पर चुनाव आयोग का रुख किया और कांग्रेस के 2 बागी विधायकों के वोटो को रद्द करने की मांग की। 
  • कांग्रेस के बाद भाजपा भी चुनाव आयोग पहुंची और 1 वोट को रद्द करने की मांग की।
  • इसके बाद कांग्रेस एवं भाजपा के कई दिग्गज चुनाव आयोग पहुंचे और अपनी बात रखी। 
  • इसके बाद देर तक हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा।
  • देर रात साढ़े 11 बजे चुनाव आयोग ने कांग्रसे की मांग को मानते हुए कांग्रेस के 2 बागी विधायकों के वोटों को रद्द करते हुए मतगणना शुरू करने के निर्देश दिए। 
  • इस पर भाजपा ने उनकी शिकायत पर कार्यवाही नहीं होने की बात कहते हुए काफी देर तक मतगगणना शुरू नहीं होने दी। 
  • बाद में आखिर मतगणना शुरू हुई और करीब पौने दो बजे के आसपास इस हाईवोल्टेज पॉलीटिकल ड्रामे का अंत कांग्रेस के अहमद पटेल की जीत के ऐलान के साथ हुआ।




Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.