Header Ads

मुख्यमंत्री की लोगों से रूबरू होकर समस्याएं सुनने की पहल, किशनगढ़ में किया सर्वसमाज के साथ संवाद

किशनगढ़। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सर्वसमाज के प्रतिनिधियों से सीधे संवाद कर जनसमस्याओं के निराकरण और उनसे सरकार का व्यक्तिषः फीडबैक लेने की एक नई पहल की है। विभिन्न समाजों के लोगों से मिलकर विकास कार्यों की जमीनी हकीकत से रूबरू होने और आमजन की समस्याओं को दूर करने के साथ ही समाज के लोगों से सुझाव लेने की यह अभिनव शुरुआत राजे ने गुरूवार को अजमेर जिले के किशनगढ़ से की।

किशनगढ़ के मार्बल एसोसिएशन सभागार में राजे ने करीब 7 घण्टे तक सर्वसमाज के लोगों से सरकार और स्थानीय प्रशासन के बारे में फीडबैक लिया। मुख्यमंत्री ने सभी से किशनगढ़ क्षेत्र के विकास के बारे में चर्चा की और उनके सुझावों और समस्याओं को नोट भी किया। हमारी कोशिश है कि प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर वहां के सर्वसमाज से संवाद और संपर्क स्थापित किया जाए ताकि वे अपनी बात खुलकर बता सकें और उनकी समस्याएं दूर हों। उन्होंने कहा कि सुराज संकल्प पत्र में जो भी वादे किए हैं उन्हें पूरा किया जाएगा।

मुख्यमंत्री की इस पहल का स्वागत करते हुए सभी समाज और समुदायों के लोगों ने कहा कि पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने जयपुर से उनके क्षेत्र में आकर, उनके साथ बैठकर उनकी परेशानियों को यूं व्यक्तिगत रूप से सुनने और दूर करने का प्रयास किया है। विभिन्न समाजों के प्रतिनिधियों ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे शौचालयों के लिए किश्त जारी करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

सीएम की बैठक में पहुंचे राजपूत समाज के लोग
मुख्यमंत्री के साथ अन्य समाजों के साथ-साथ राजपूत समाज की बैठक भी महत्वपूर्ण रही। बैठक में मौजूद भारी संख्या में राजपूत समाज के लोगों ने कहा कि लोग भ्रम फैला रहे हैं कि राजपूत समाज नाराज है जबकि ऐसा नहीं है। राजपूत समाज कल भी मुख्यमंत्री के साथ था, आज भी साथ है और भविष्य में साथ रहेगा। मुख्यमंत्री ने राजपूत समाज द्वारा किए गए स्वागत से अभिभूत होकर कहा कि राजपूत समाज उनका अपना समाज है। वह उसकी बहन-बेटी है जो हमेशा 36 की 36 कौमों को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है।

किषनगढ़ में हुए 700 करोड़ के विकास कार्य
राजे ने कहा कि किषनगढ़ में हमारी सरकार ने अब तक 700 करोड़ से अधिक के विकास कार्य कराए हैं। किशनगढ़ में अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए जमीन अवाप्त करने, पैसा खर्च करने सहित इसे हकीकत में बदलने का काम हमने किया है और यहां से उड़ानें भी जल्द शुरू होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि रघुनाथपुरा में रीको औद्योगिक क्षेत्र के लिए जमीन आरक्षित कर यहां के व्यवसायियों की पुरानी मांग पूरी कर ली गई है। यहां जल्द ही उद्योग-धंधे विकसित होंगे, जिससे बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा। इसी प्रकार किशनगढ़ में अम्बेडकर सर्किल-सरवाड़ी रोड से पुलिस स्टेशन के बीच दो करोड़ रूपये की लागत से सड़क के विकास कार्य की एनआईटी जारी हो चुकी है, जल्द ही काम शुरू होगा।

जल्द दूर होगी पेयजल समस्या
मुख्यमंत्री ने कहा कि किशनगढ़ की पेयजल समस्या को दूर करने के लिए 225 करोड़ रूपये की योजना पर काम चल रहा है। उसके तहत 15 पेयजल टंकियां बनाई जाएंगी, जिनमें से 7 पर काम चल रहा है। इस योजना के पूरा होने से यहां की पेयजल समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।

किशनगढ़ चिकित्सालय को बनाएं बेहतरीन चिकित्सा संस्थान
मुख्यमंत्री ने कहा कि किशनगढ़ के चिकित्सालय को बेहतरीन चिकित्सा संस्थान के रूप में विकसित किया जाए। उन्होंने चिकित्सा मंत्री श्री कालीचरण सराफ को निर्देश दिए कि वे शुक्रवार को ही चिकित्सालय का दौरा कर वहां की व्यवस्थाओं को देखें और जो भी कमियां हैं उन्हें अविलम्ब दूर करें।

टोल और जीएसटी की समस्या को केंद्र तक पहुंचाएंगे
श्रीमती राजे ने कहा कि जीएसटी के सम्बन्ध में स्थानीय व्यवसायियों की जो भी परेशानियां हैं उन्हें केंद्र सरकार तक पहुंचाया जाएगा। इसी प्रकार नेशनल हाइवे पर लगने वाले टोल को लेकर स्थानीय लोगों की परेशानियों के सम्बन्ध में भी केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी से चर्चा की जाएगी।

सड़कों के लिए सभी नगरीय निकायों को मिलेगी राशि
राजे ने कहा कि नगर पालिकाओं सहित प्रदेश के सभी नगरीय निकायों को उनके क्षेत्र की सड़कों को दुरूस्त करने के लिए शीघ्र ही राशि दी जाएगी। यह पैसा उनकी आबादी के हिसाब से दिया जाएगा। इसका फायदा किशनगढ़ नगर परिषद को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि सभी पात्र लोगों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) का लाभ मिले इसके लिए शिविर लगाए जाएंगे। शिविर में ऐसे लोगों के नाम हटा दिए जाएंगे जो अपात्र हैं और उनकी जगह पात्र लोगों को शामिल किया जाएगा ताकि जरूरतमंदों को इसका लाभ मिल सके।

स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर होगी
मुख्यमंत्री ने कहा कि तृतीय श्रेणी 25 हजार से ज्यादा अध्यापक शीघ्र ही नियुक्त होंगे। इससे स्कूलों में शिक्षकों की कमी काफी हद तक दूर हो जाएगी। इस अवसर पर चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ, विधायक भागीरथ चौधरी सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.