Header Ads

आतंकी संगठन IS ने ली Las Vegas Attack की जिम्मेदारी, 58 की मौत, 500 से ज्यादा घायल

las vegas shooting, las vegas, las vegas mass shooting, shooting in las vegas, shooting, mass shooting, las vegas concert shooting, vegas shooting, las vegas strip, shooter in las vegas, las vegas strip shooting, mandalay bay shooting, las vegas news, vegas, las vegas attack, mandalay bay, deadliest mass shooting in us history, breaking news, stephen paddock, news, america, gunman, us shooting, united states of america, las, mandalay bay casino shooting
लास वेगास। रविवार की रात अमेरिका में लास वेगास के एक कसीनो में म्यूजिक कॉन्सर्ट के दौरान अज्ञात हमलावरों  द्वारा की गई अंधाधुंध फायरिंग महज फायरिंग नहीं है। ये एक सोचे समझे और योजनाबद्ध तरीके से अन्जाम दिया गया आतंकी हमला है। न्यूज एजेंसी Reuters के मुताबिक आतंकी संगठन ISIS ने इस भीषण हमले की जिम्मेदारी ली है। साथ ही ये भी बताया गया है कि ISIS ने कहा है कि हमलावर ने कुछ महीने पहले ही धर्मपरिवर्तन कर इस्लाम अपनाया था।

गौरतलब है कि लास वेगास के एक कसीनो में म्यूजिक कॉन्सर्ट के दौरान की गई अंधाधुंध फायरिंग में कम से कम 58 लोगों के मौत हुई है, जबकि इस हमले में 500 से ज्यादा लोगों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। बताया जा रहा है कि कॉन्सर्ट के दौरान म्यूजिक की मस्ती में डूबे लोगों के बीच मातम का माहौल फेलाने वाले दो से तीन हमलवार कसीनो में घुसे और उन्होंने 32वीं मंजिल से फायरिंग की शुरुआत की। इससे वहां भगदड़ मच गई। हमले में कई दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है और 200 से अधिक लोग घायल हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटनी की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है। IS की प्रोपोगेंडा एजेंसी 'एमक' की ओर से जारी किए गए ऑनलाइन बयान के मुताबिक हमलावर स्टीफन पेडॉक ने कुछ ही दिन पहले इस्लाम कबूल किया था। हालांकि, अमेरिका की जांच एजेंसी FBI ने इस हमले के आतंकी कनेक्शन से इंकार किया है। एफबीआई के मुताबिक गोलीबारी करने वाले स्टीफन पेडॉक का किसी अंतर्राष्ट्रीय आतंकी संगठन से रिश्ता नहीं था।

स्थानीय पुलिस का कहना है कि 62 साल के स्टीफन पैडक नाम के एक बंदूकधारी ने मंडलई बे होटल के 32वें फ्लोर से एक ओपन-एयर म्यूजिक कॉन्सर्ट में अंधाधुंध गोलीबारी की थी। इस कॉन्सर्ट में करीब 22 हजार लोग पहुचे थे। पुलिस के मुताबिक संदिग्ध हमलावर स्थानीय नागरिक था। इस हमले को अमरीकी इतिहास का सबसे भयावह गोलीबारी कहा जा रहा है। पुलिस का कहना है कि होटल में घिरने के बाद संदिग्ध हमलावर ने खुद को गोली मार ली।



अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने देश के नाम अपने संबोधन में लास वेगस गोलीबारी को राक्षसी कृत्य बताया है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा एजेंसियां जांच में जुटी हैं। ट्रंप ने पीड़ितों तक जल्द राहत पहुंचाने के लिए लास वेगस पुलिस की तारीफ की। उन्होंने कहा कि बहुत से लोगों ने अपनों को खो दिया। ट्रंप ने कहा कि इस दुख और दहशत की घड़ी में अमेरिका हमेशा की तरह पूरी तरह एकजुट है। उन्होंने अमेरिकी ध्वज को शोक में आधा झुकाने का आदेश दिया है। ट्रंप बुधवार को मौका-ए-वारदात का दौरा करेंगे।

बहरहाल, इस घटना के बाद ये पूरे इलाके को पुलिस के घेरे में ले लिया गया है, जो अभी भी पुलिस के घेरे में है। पुलिस द्वारा वहां मौजूद गाड़ियों की छानबीन की जा रही है और बड़ी संख्या में हथियारबंद पुलिसकर्मी दिखाई दे रहे हैं। वहीं दूसरी ओर, घटना के बाद लास वेगास एयरपोर्ट पर कई उड़ानों के रूट बदल दिए गए हैं। 




Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.