छात्राओं से छेड़छाड़ की तो खैर नहीं, स्कूलों में लगेगी शिकायत पेटिका, पूरे प्रदेश के स्कूलों में जारी होंगे आदेश - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

छात्राओं से छेड़छाड़ की तो खैर नहीं, स्कूलों में लगेगी शिकायत पेटिका, पूरे प्रदेश के स्कूलों में जारी होंगे आदेश

अजमेर। स्कूल आने जाने वाली छात्राओं से छेड़छाड़ करने वाले रोडछाप रोमियों की अब खैर नहीं। छात्राओं को ईव टीजिंग से बचाने के लिए शिक्षा विभाग बड़ी पहल करने जा रहा है। स्कूलों में शिकायत पेटिका लगायी जाएगी। इसमें छात्राएं अपनी शिकायतें लिखकर डाल सकती हैं। इन शिकायतों पर जिला प्रशासन, पुलिस एवं शिक्षा विभाग तुरन्त कार्यवाही करेंगे। शिकायत शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी के एप एवं विभाग के पोर्टल पर भी जा सकेंगी।
   
देवनानी ने आज राजकीय मॉडल बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में युवा संवाद कार्यक्रम के तहत छात्राओं से सीधा संवाद किया। छात्राओं से उनके कैरियर एवं भविष्य की योजनाओं पर चर्चा के दौरान एक बालिका ने कहा कि क्या विभाग के पास ईव टीजिंग रोकने के लिए कोई कार्ययोजना है। कई बार बालिकाओं को स्कूल आते जाते समय मनचले लड़कों की फब्तियों एवं छेड़छाड़ का सामना करना पड़ता है। ऎसे में कई छात्राएं स्कूल तक छोड़ने का विचार कर लेती हैं। इस पर श्री देवनानी ने तुरन्त  अधिकारियों को निर्देश दिए कि राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में एक शिकायत पेटिका रखवायी जाए। इस पेटिका में छात्राएं अपनी शिकायत लिखकर डाल सकेंगी।
   
उन्होेंने बताया की शीघ्र ही राज्य सरकार, प्रशासन, पुलिस एवं शिक्षा विभाग की संयुक्त टीम बनाकर इस तरह की शिकायत पर तुरन्त सख्त कार्यवाही अमल में लायी जाएगी। शिकायत शिक्षा मंत्री के एप तथा विभाग के पोर्टल पर भी दी जा सकती है। उन्होेंने स्कूलों में छात्राओं को आत्मरक्षा प्रशिक्षण के कार्यक्रम में भी तेजी लाने की घोषणा की।
   
देवनानी ने छात्राओं को जानकारी दी कि स्मार्ट सिटी बनने जा रहे अजमेर में अपराधों की रोकथाम के लिए स्मार्ट पुलिसिंग की जा रही है। शहर में तमाम महत्वपूर्ण स्थानों पर कैमरे लगाए गए है। हाल ही में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अभय कमाण्ड सेन्टर का लोकार्पण किया है। इस सेंटर से पूरे शहर में गतिविधियों पर कैमरों के जरिए नजर रखी जा रही है। अब अपराधियों का बचना आसान नहीं है।
   
उन्होंने छात्राओं को राज्य सरकार की योजनाओं यथा भामाशाह योजना, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा, जलस्वावलम्बन अभियान, राजश्री, अन्नपूर्णा सहित विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी भारत की संपूर्ण जानकारी रखें। भारत ने विश्व का नेतृत्व किया है। दुनिया को विज्ञान भारत ने ही सिखाया है।
   
देवनानी ने कहा कि बालिकाओं में उत्तरदायित्व का बोध पैदा हो, इसके लिए उसके स्वभाव में पानी संरक्षण, स्वच्छता एवं कौशल विकास जैसे गुण विकसित किये जायें। छात्र जीवन में धैर्य, नम्रता, निपुणता जरूरी है। उन्होंने शिक्षकों से भी कहा कि वे छात्र की जिज्ञासाओं को शांत करें। बच्चों के प्रश्न को दबाया नहीं जाना चाहिए।
   
देवनानी ने छात्राओं से राज्य सरकार की विभिन्न योजनाआें तथा अजमेर शहर में कराए जा रहे विकास कार्यो आदि विषयों पर बातचीत की। उन्होेंने न सिर्फ स्वयं अपनी बात रखी बल्कि छात्राओं  के विचारों को भी जाना। इस मौके पर शिक्षा राज्यमंत्री ने विद्यालय में 60 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली छात्राओं को मेडल, स्मृतिचिन्ह एवं प्रमाण-पत्र वितरित किये। कार्यक्रम में पार्षद अनिश मोयल सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी उपस्थित थे।




Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.