स्वामी बसंतराम की 37वीं पुण्यतिथि पर निकाली गई भव्य शोभायात्रा का जगह जगह हुआ स्वागत की पुष्पवर्षा - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

स्वामी बसंतराम की 37वीं पुण्यतिथि पर निकाली गई भव्य शोभायात्रा का जगह जगह हुआ स्वागत की पुष्पवर्षा

अजमेर। नवनिर्मित श्री प्रेम प्रकाश आश्रम वैशाली नगर में चल रहे भव्य उद्घाटन समारोह एवं सदगुरु स्वामी बसंतराम महाराज के 37वीं पुण्यतिथि महोत्सव के अंतर्गत शुक्रवार शाम प्रेम प्रकाश आश्रम देहली गेट से प्रेम प्रकाश आश्रम वैशाली नगर तक सुंदर झांकियों सहित विशाल शोभायात्रा निकाली गई।

कार्यक्रम के प्रारंभ में अशोक गाफिल ने श्री झूलेलाल के बहराणा साहिब की पूजा, अर्चना, भजन कीर्तन ज्योत प्रज्जवलित कर छेज लगाई। महामण्डलेश्वर स्वामी भगत प्रकाश महाराज स्वामी ब्रह्मानंद शास्त्री के सानिध्य में रजवाड़ी घोड़े, ऊंट, बैंड-बाजे के साथ शोभा यात्रा देहली गेट से चलकर विभिन्न मार्गों से होकर वैशाली नगर पहुंची। शोभायात्रा में शिव पार्वती, राधा कृष्ण, श्रीराम परिवार, पवन पुत्र हनुमान सहित सतगुरु स्वामी टेऊंराम, स्वामी बसंतराम, स्वामी सर्वानंद, स्वामी शांति प्रकाश आदि की झांकियां शामिल थी। शोभायात्रा के दौरान फव्वारा सर्किल पर सिंधी संगीत समिति के रमेश चेलानी, घनश्याम भूरानी, रमेश लालवानी, कमल लालवानी, गोविंद राम आदि ने स्वागत किया। बजरंग गढ़ चौराहे पर 251 दीपों से टेऊंराम महाराज की महाआरती संतों का वासवानी परिवार ने स्वागत किया। वैशाली सिंधी सेवा समिति एवं सिंधी बोली विकास समिति की ओर से शंकर टिलवानी, जीडी वरिंदानी, जयप्रकाश मंघाणी, महासचिव प्रकाश जेठरा, खुशीराम ईसरानी ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। शोभायात्रा के सफल संचालन में लक्ष्मण भगतानी, हशू आसवानी, महेन्द्र तीर्थाणी, जयकिशन पारवानी, पारस लौंगानी, निरंजन जोशी, भगवान भगतानी, पवन भाटिया, प्रीतम, टिन्कू, मोटूमल, नंदलाल, घनश्याम प्रेमचंदानी, अभिषेक धनवानी, मनीष जेठवानी आदि का सहयोग रहा। शोभा यात्रा वैशाली नगर आश्रम पहुंचकर सत्संग सभा में परिवर्तित हो गई जहां पर आरती-पल्लव पश्चात प्रसाद वितरण कर दिन के कार्यक्रम की समाप्ति हुई। संत ओमप्रकाश ने बताया कि शनिवार सुबह हवन-पूजन के साथ सत्संग-वचन एवं शाम को विभिन्न संतों महात्माओं के सत्संग प्रवचन होंगे।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.