पर्यटन विकास के क्षेत्र में पंख फैलाता अजमेर - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

पर्यटन विकास के क्षेत्र में पंख फैलाता अजमेर

अजमेर। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर धार्मिक एवं पर्यटन नगरी के रूप में जाना पहचाना जाने वाला जिला अजमेर आने वाले समय में पर्यटन के क्षेत्र में काफी उचाइयां हासिल करेगा। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सोच से ही यह पर्यटन हब के रूप में विकसित होगा। यहां जहां एक ओर पुष्कर का चहुंमुखी विकास हो रहा है, वहीं अजमेर में विकास के सोपान स्थापित किये जा रहे है।

जिले में राष्ट्रीय तीर्थ यात्रा स्थल पुर्नरूद्वार एवं आध्यात्मिक संवर्धन अभियान (प्रसाद) में अजमेर व पुष्कर के लिए स्वीकृत राशि रू. 40 करोड़ 44 लाख है, जिससे पुष्कर में कार्य प्रगति में है। इसी योजनान्तर्गत सावित्री मंदिर के विकास कार्य राशि रू. 4 करोड़ 10 लाख की लागत से पूर्ण होने पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा लोकार्पण कर आमजन को समर्पित किया गया। ब्रह्मा मंदिर एन्ट्री प्लाजा विकास संबंधी कार्याें का मुख्यमंत्री द्वारा  शिलान्यास किया गया जिसका  कार्य प्रगति भी प्रगति पर हैं। प्रसाद कार्याें पर अब तक राशि रू. 11 करोड़ 74 लाख 4 हजार की व्यय की जा चुकी है।

सावित्री मंदिर पुष्कर पर रोप-वे की स्थापना से मंदिर तक पर्यटकों की आवाजाही बढ़ी है। पुष्कर के मनोरम दृश्यों का अवलोकन रोप वे से किया जा सकता है, यहां प्रतिदिन औसतन 400-500 श्रृद्धालूओं द्वारा रोप-वे की सुविधा का लाभ उठाया जा रहा है।

रिसर्जेन्ट राजस्थान, 2015 व उसी के क्रम में वर्ष 2016 में पर्यटन निवेशक सम्मेलन, नई दिल्ली में हुआ जिसमें अजमेर जिले के पर्यटन क्षेत्र के 7 एम.ओ.यू सहित कुल 22 एम.ओ.यू जिनकी निवेश राशि 398.15 करोड़ है एवं इनमें लगभग 600 से अधिक व्यक्तियों को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा। लगभग सभी एम.ओ.यू का पर्यटन विभाग के स्तर पर निस्तारण किया जा चुका है। इनमेंं से 5 प्रस्ताव के तहत पर्यटन इकाई स्थापना/निर्माण कार्य प्रगति में है।

अजमेर व पुष्कर अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर धार्मिक पर्यटन हब के रूप में स्थापित हो रहा है। वर्ष, 2014 से सितम्बर, 2017 तक  कुल 453761 विदेशी व 30161270 देशी पर्यटकों का अजमेर, पुष्कर में आगमन हुआ है।

अजमेर व पुष्कर में पर्यटन को बढावा देने के उद्देश्य से पुष्कर मेले के अतिरिक्त पुष्कर में वृहद् सांस्कृतिक कार्यक्रम द सेकर्ड पुष्कर महोत्सव का आयोजन इवेन्ट मेनेजमेन्ट फर्म की सेवायें लेते हुए किया जा रहा है।  द सेकर्ड पुष्कर, 2015 व 2016 का आयोजन सफलता पूर्वक किया गया। इस वर्ष भी इसका आयोजन सफल रहा है।

अजमेर जिला मुख्यालय पर राजकीय संग्रहालय का जीर्णाेद्वार एवं विकास कराकर संग्रहालय को भव्यता एवं नया स्परूप प्रदान किया गया है। उक्त नये स्वरूप में स्थापित संग्रहालय को पर्यटन कला एवं संस्कृति राज्य मंत्री द्वारा शिक्षा राज्यमंत्री, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री एवं अध्यक्ष राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण की उपस्थिति में आमजन को समर्पित किया गया है।

स्वच्छता की दृष्टि से  कायड़ विश्राम स्थली की वर्तमान सीवरेज डिस्पोजल लाईन का कार्य अजमेर विकास प्राधिकरण, अजमेर द्वारा कार्य पूर्ण किया जा चुका है। कार्य पर लगभग राशि रू. 50 लाख रूपये का व्यय हुआ है।

पर्यटन विभाग द्वारा ऎग्रेसिव मार्केटिंग अभियान के तहत् अजमेर संभाग स्तर पर नवीन विपणन सामग्री का प्रदर्शन भी किया गया है। इसी प्रकार अजमेर-पुष्कर पर्यटन मोबाईल एप विकसित कर आगन्तुक पर्यटकों को समुचित जानकारी उपलब्ध कराने का प्रयास भी किया जा रहा है।

अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर पशु व धार्मिक मेले को नये आयाम के उद्देश्य से वर्ष, 2015 के मेले का आयोजन इवेन्ट मेनेजमेन्ट फर्म की सेवायें लेते हुए पुष्कर मेला, 2015, 2016 एवं 2017 को भव्यता एवं सफलता पूर्वक आयोजित कर अधिकाधिक स्वदेशी व विदेशी पर्यटकों को आकर्षित किया गया।

सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों में जिला कलेक्टर गौरव गोयल स्वयं प्रत्येक विकास कार्य की मोनिटरिंग कर समय समय पर आवश्यक दिशा निर्देश देते है। जिससे यहां हो रहे विकास कार्य समयबद्धता से पूर्ण होकर सबके सामने आयेंगे और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.