निःशुल्क कैंसर व न्यूरो सर्जरी परामर्श शिविर आयोजित - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

निःशुल्क कैंसर व न्यूरो सर्जरी परामर्श शिविर आयोजित

अजमेर। मित्तल हाॅस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर अजमेर में रविवार को सुबह 10 से 1 बजे तक निःशुल्क कैंसर व न्यूरो सर्जरी परामर्श शिविर आयोजित हुआ। शिविर में अजमेर  सहित भीलवाड़ा नागौर, गोटन व अन्य ग्रामीण क्षेत्रों से आए रोगियों ने निःशुल्क परामर्श लाभ प्राप्त किया। शिविर में कैंसर रोग विशेषज्ञ डाॅ. प्रशांत शर्मा व ब्रेन व स्पाइन रोग विशेषज्ञ डाॅ. सिद्धार्थ वर्मा ने अपनी सेवाएं दीं।

कैंसर रोग विशेषज्ञ डाॅ. प्रशांत शर्मा ने बताया कि शिविर में कैंसर के सभी तरह के रोगी परामर्श लाभ लेने पहुंचे। इनमें मुंह व गले का कैंसर, फे़फड़ों का कैंसर, महिलाओं में बच्चेदानी के मुंह व स्तन के कैंसर, किड़नी व प्रौस्टेट कैंसर, पेट के कैंसर, हाथ, पैरों के कैंसर एवं अन्य कैंसर पीड़ितों ने शिविर का लाभ पाया। कुछ रोगी तो वे थे जो विगत वर्षों में कैंसर रोग से पीड़ित रहे हैं, मित्तल हाॅस्पिटल में उपचार कराने के बाद स्वास्थ्य लाभ मिलने पर फोलोअप के लिए आए थे। कुछ मरीज नए थे जिनमें ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित महिलाएं, गले के कैंसर से पीड़ित अधिक थे। उन्होंने बताया कि इन दिनों ब्रेस्ट कैंसर व गले के कैंसर के रोगी अधिक पहचाने जा रहे है। इसका कारण खानपान में असावधानी व प्रदूषित वातावरण मुख्य है। डाॅ. प्रशांत ने महिलाओं को सलाह दी कि 40 की उम्र के बाद वे अपने स्वास्थ्य की नियमित जांच कराते रहें। इनमें पेट की सोनाग्राफी, ब्रेस्ट की मेमोग्राफी व पेपस्नीयर जांचें अवश्य कराएं। उन्होंने कहा कि महिलाए ब्रेस्ट कैंसर या अन्य रोग से पीड़ित होने के बाद भी उपचार लाभ पाने में देरी कर देती हैं जिससे रोग बढ़ जाता है। समय पर रोग की जानकारी मिल जाने से उपचार किया जा सकता है।

ब्रेन व स्पाइन रोग विशेषज्ञ डाॅ. सिद्धार्थ वर्मा ने कहा कि युवाओं में सिर दर्द व ब्रेन हैमरेज की समस्याएं काफी बढ़ गई हैं। इसका सामान्य कारण जीवन में बढ़ता तनाव ही है। किन्तु कई बार देखा गया है कि लोग सही चिकित्सकीय परामर्श नहीं मिलने के कारण अपने रोग को बढ़ा लेते हैं। उन्होंने कहा कि  80 प्रतिशत लोग कमर दर्द को बहुत हल्के में लेते है, जो आगे जाकर गंभीर परेशानी का कारण बन जाता है। ऐसा ही सिर दर्द या शरीर के अन्य अंगों में दर्द रहने पर होता है। युवाओं में सिर दर्द ब्रेन ट्यूमर पनपने की वजह से भी होता है। अपनी व्यस्तता के कारण समय पर सही उपचार से वंचित रहते है, बाद में गंभीर स्थिति में पड़ जाते हैं। उन्होंने बताया कि जिनको उच्च रक्तचाप व ब्लड शुगर की तकलीफ है वे नियमित स्वास्थ्य जांच कराते रहें। नियमित व्यायायाम करें और अपने आहार को संतुलित बनाए रखें।

डाॅ. सिद्धार्थ ने बताया कि जिन रोगियों को ब्रेन हेमरेज, ब्रेन ट्यूमर, सिर व रीढ़ की हड्डी में चोट की समस्या रही है, मिर्गी (तान), लकवा, माइग्रेन, सरवाइकल, स्पोंडिलाइटिस, सियाटिका, कमर, गर्दन व पुराना सिर दर्द रहता है, चक्कर आना, हाथ-पांव में कम्पन होना, सुन्नपन व टेढ़ा होना, बुखार, मंदबुद्धिता, बेहोशी, याददाश्त में कमी, देर से बोलना व चलना, सिर में पानी, कमर में गांठ है, ऐसे रोगी जांच व उपचार के लिए उनसे परामर्श कर सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि मित्तल हाॅस्पिटल में आयोजित शिविर में पंजीकृत रोगियों को चिकित्सक द्वारा निर्देशित जांचों पर 25 प्रतिशत तथा आॅपरेशन व प्रोसीजर्स पर 10 प्रतिशत की छूट अगले सात दिवस तक प्रदान की जाएगी।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.