सिंधी भाषा स्वर्ण जयंती रथ का जैसलमेर पहूंचने पर किया भव्य स्वागत, निकाली शोभा यात्रा - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

सिंधी भाषा स्वर्ण जयंती रथ का जैसलमेर पहूंचने पर किया भव्य स्वागत, निकाली शोभा यात्रा

जैसलमेर। भारतीय सिंधू सभा द्वारा सिंधी भाषा को भारतीय संविधान में शामिल किये जाने के 50 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में प्रदेष भर में मनाये जा रहे “सिंधी भाषा स्वर्ण जयंती वर्ष 2017” के अंतर्गत तीर्थराज पुष्कर से आये सिंधी भाषा स्वर्ण जयंती रथ का रविवार प्रातः स्वर्णनगरी जैसलमेर पहूंचने पर भव्य स्वागत किया गया तथा आकर्षक शोभा यात्रा निकाली गई। इस अवसर पर सिंधी भाषा एवं संस्कृति को बढ़ावा देने वाले कई कार्यक्रम आयोजित किये गये।

भारतीय सिंधू सभा के जिलाध्यक्ष आशाराम मूलचंदानी ने बताया कि भारतीय सिंधू सभा के संभाग प्रभारी वासुदेव बसरानी तथा बालोतरा नगर अध्यक्ष नरेन्द्र लालवानी के सानिध्य में जैसलमेर आये सिंधी भाषा स्वर्ण जयंती रथ का भव्य स्वागत व शोभायात्रा निकाली गई। हनुमान चौराहे से आरंभ हुई शोभायात्रा को क्षेत्रीय विधायक छोटूसिंह भाटी, नगरपरिषद सभापति कविता कैलाश खत्री, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग संघचालक डॉ. दाऊलाल शर्मा तथा जिला संघचालक त्रिलोक चंद खत्री ने केसरिया झण्डी दिखाकर रवाना किया। शोभायात्रा में डीजे के सिंधी गीत एवं भजनों के मधूर धूनों के साथ युवक-युवतियां नृत्य करते हुए चल रही थी। शोभायात्रा गांधी चौक, सदर बाजार, गोपा चौक, आसनी रोड़ होते हुए गांधी कॉलोनी स्थित झूलेलाल मंदिर पहूंची जहां रथ का भव्य स्वागत कर भगवान झूलेलाल की आरती की गई। शोभायात्रा के मार्ग में कई स्थानों पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया।

भारतीय सिंधू सभा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य हीरालाल साधवानी ने बताया कि इस अवसर पर आयोजित समारोह की अध्यक्षता पूज्य झूलेलाल सिंधी पंचायत के अध्यक्ष सांवलदास वृजाणी ने की। समारोह के मुख्य वक्ता वासुदेव बसरानी तथा विषिष्ट अतिथि नरेन्द्र लालवानी थे। इस अवसर पर यशस्वी तेजवानी, कृष तेजवानी, लक्ष्य मूलचंदानी, मेहूल तेजवानी, मीनाक्षी मूलचंदानी, प्रिंस तेजवानी, कुन्दनलाल वाधवानी तथा संगीता हरवानी ने सिंधी गीत एवं भजन प्रस्तुत किया। समारोह का शुभारंभ अतिथियों द्वारा वरूण देव झूलेलाल की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

इस अवसर पर हीरालाल साधवानी, ऋषि तेजवानी तथा आशाराम मूलचंदानी ने अतिथियों का स्वागत किया। समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता बसरानी ने कहा कि भाषा संगठित समाज का मुख्य आधार होती है। उन्होंने उपस्थित जनसमुदाय से अपने दैनिक जीवन में सिंधी भाषा एवं संस्कृति को अपनाने पर बल दिया। अपने स्वागत भाषण में हीरालाल साधवानी ने कहा कि भारतीय संविधान में सिंधी भाषा को शामिल किये जाने के 50 वर्ष पूर्ण के अवसर पर सिंधी भाषा एवं संस्कृति के प्रति सम्मान बढ़ाने एवं जनजागृति करने के उद्धेष्य से रथ यात्राओं का आयोजन किया गया है।

समारोह के अंत में भारतीय सिंधू सभा के जिला मंत्री किशोर तेजवानी ने आभार व्यक्त किया। समारोह में चंदूमल जसरानी, अशोक तेजवानी, भगवानदास वृजाणी, भगवानदास भाटी, केवलचंद ठाकवानी, मुरलीधर खत्री, चंद्रभान खत्री, शरद व्यास, ओम सेवक, अषोक मोटवानी, विनोद तेजवानी, छतुमल होतचंदानी, सतुमल अठवानी, रमेष हरवानी, किशोर मामनानी, नंदूमल जसरानी, रवि टिलवानी, जयशंकर मूलचंदानी, नवीन वाधवानी, लोकेश साधवानी, जय वृजाणी, राजेश जसरानी, मोहन जसरानी सहित बड़ी संख्या में महिलाएं व बच्चे उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.