अजमेर को बनाएं स्वच्छ व सुन्दर, अगली बार सुधरेगी हमारी रैंकिंग : कृपलानी - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

अजमेर को बनाएं स्वच्छ व सुन्दर, अगली बार सुधरेगी हमारी रैंकिंग : कृपलानी

Ajmer, Rajasthan, udh minister, shri chand kripalani, meeting, rajasthan news
अजमेर।  स्वायत्त शासन मंत्री श्रीचन्द कृपलानी ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे चाहती हैं कि राजस्थान का प्रत्येक शहर स्वच्छ व सुन्दर हो। इसके लिए सभी जनप्रतिनिधियों व प्रशासन को समन्वय से कार्य करने एवं लोगों को स्वच्छता के प्रति प्रेरित करने के प्रयासों  को और अधिक बढ़ाये जाने की आवश्यकता है। हम पूरी गम्भीरता से प्रयास करेंगे तो अगली बार हमारी स्वच्छता रैंकिंग सुधर जाएगी। इसके लिए राज्य स्तर पर भी एक टीम गठित कर नियमित अन्तराल में सर्वे करवाया जाएगा। आगामी 15 अगस्त तक जिले के सभी शहरी क्षेत्रों को भी खुले में शौच से मुक्त घोषित किया जाएगा। इसके साथ ही पूरा जिला ओडीएफ घोषित हो जाएगा।

कृपलानी ने आज शाम कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक लेकर स्वच्छ भारत मिशन एवं स्मार्ट सिटी सहित अन्य परियोजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्राी श्रीमती राजे अजमेर सहित राजस्थान के प्रत्येक शहर को स्वच्छता के पायदान पर सबसे उपर देखना चाहती है। इसके लिए हमें पूरी गंभीरता से प्रयास करना होगा। जिला प्रशासन, नगर निगम एवं अजमेर विकास प्राधिकरण आपस में समन्वय स्थापित कर स्वच्छता व सौन्द्रीयकरण के लक्ष्य प्राप्त करें।

उन्होंने अधिकारियों से घर-घर कचरा संग्रहण, सार्वजनिक शौचालय, स्वच्छता में जन भागीदारी, खुले में शौच से मुक्ति के लिए किए जा रहे प्रयासों एवं प्रचार प्रसार आदि की जानकारी ली। कृपलानी ने कहा कि अजमेर एक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त शहर है । ख्वाजा साहब की दरगाह एवं पुष्कर तीर्थ के कारण पूरे देश में अजमेर का विशिष्ट महत्व है। हम सब मिलकर प्रयास करेंगे तो निश्चित रूप से शानदार  परिणाम सामने आएंगे।      

जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने बताया कि अजमेर में स्मार्ट सिटी, हृदय एवं अमृत  योजना के तहत कई कार्य चल रहे हैं। इन कार्यों को शहर के हितों से जोड़कर क्रियान्वित किया जा रहा है। जिले के 245 शहरी वार्डों  में से 119 वार्डो को  ओडीएफ किया जा चुका है। शेष को 15 अगस्त से पूर्व ओडीएफ कर दिया जाएगा। हृदय योजना के तहत अजमेर व पुष्कर में कार्य करवाएं जा रहे हैं। अमृत योजना के तहत भी कार्य शुरू हो चुके है। शहर सौन्दर्यकरण की दृष्टि से आनासागर झील के किनारों पर पाथवे निर्मित करवाये जा रहे है।

महापौर धर्मेंद्र गहलोत ने उन्हें शहरी विकास एवं आगामी 10 मई से आयोजित होने वाले शिविरों से संबंधित सुझाव दिए। अजमेर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शिवशंकर हेड़ा ने भी सुझाव दिए। बैठक में अध्यक्ष अरविन्द यादव, पार्षद रमेश सोनी, जयकिशन पारवानी, एडीए सचिव उज्जवल राठौड़, नगर निगम उपायुक्त ज्योति ककवानी, गजेन्द्र सिंह रलावता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.