मुंबई इंडियंस ने जीता आईपीएल टी-20 का महामुकाबला, राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स को 1 रन से हराकर बनी चैम्पियन - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

मुंबई इंडियंस ने जीता आईपीएल टी-20 का महामुकाबला, राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स को 1 रन से हराकर बनी चैम्पियन

Hyderabad, Indian Premiere League, IPL, T20, Mumbai Indian Wins, Rising Pune Supergiants
हैदराबाद। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टी-20 का आज हैदराबाद के राजीव गांधी क्रिकेट स्टेडियम में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स और मुंबई इंडियंस के बीच हुआ महामुकाबला मुंबई ने जीत लिया है। इस महाजीत के साथ ही मुंबई आईपीएल टी-20 का चैम्पियन बन गई है। आईपीएल के 10वें सीजन के फाइनल में दो बार की चैंपियन रह चुकी टीम मुंबई इंडियंस ने राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स को 1 रन से मात दी और आईपीएल का 10वां सीजन अपने नाम कर लिया।

मैच में पहले बैटिंग करते हुए मुंबई की टीम ने 20 ओवरों में 129/8 रन बनाए थे, जवाब में पुणे 128/6 रन ही बना सकी। जयदेव उनादकट की अगुवाई में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के गेंदबाजों के उत्कृष्ट प्रदर्शन के बावजूद मुंबई इंडियन्स कृणाल पंड्या की पारी की मदद से आईपीएल दस के फाइनल में आज यहां आठ विकेट पर 129 रन तक पहुंचने में सफल रहा। मुंबई के पांच बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे जिनमें से कृणाल (38 गेंदों पर 47) और कप्तान रोहित शर्मा (22 गेंदों पर 24 रन) ही 20 रन की संख्या को छू पाये।

कृणाल और मिशेल जानसन (नाबाद 13) ने आठवें विकेट के लिये 50 रन जोड़कर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। मुंबई ने पहले 17 ओवरों में 92 रन बनाये थे लेकिन आखिरी तीन ओवरों में वह 37 रन बनाने में सफल रहा। पुणे की तरफ से जयदेव उनादकट ने 19 रन देकर दो, लेग स्पिनर एडम जंपा ने 32 रन देकर दो और डेनियल क्रिस्टियन ने 34 रन देकर दो विकेट लिये। युवा आफ स्पिनर वाशिंगटन सुंदर को विकेट नहीं मिला, लेकिन उन्होंने चार ओवर में केवल 13 रन दिये और मुंबई के बल्लेबाजों पर शुरू में लगाम कसे रखी। मुंबई के भारतीय गेंदबाजों ने दस ओवर किये और इनमें केवल 39 रन दिये। मुंबई का स्कोर आईपीएल फाइनल का दूसरा न्यूनतम स्कोर है।

उप्पल के राजीव गांधी स्टेडियम में आईपीएल लीग चरण के जो सात मैच खेले गये थे उनमें से पांच मैचों में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती। यहां की पिच बाद में थोड़ा धीमी हो जाती है और रोहित शर्मा ने संभवत: इस तथ्य को ध्यान में रखकर वर्तमान आईपीएल के चलन के विपरीत टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। उनका यह फैसला हालांकि सही साबित नहीं हुआ और उसने तीसरे ओवर में ही आठ रन के अंदर दोनों सलामी बल्लेबाज पार्थिव पटेल (चार) और लेंडल सिमन्स (तीन) के विकेट गंवा दिये इन दोनों को उनादकट ने पवेलियन की राह दिखाई।

पार्थिव ने मिड आन पर आसान कैच थमाया लेकिन सिमन्स का उनादकट ने अपनी ही गेंद पर जबर्दस्त कैच लिया। इससे टीम दबाव में आ गयी और पहले पांच ओवर के बाद स्कोर 16 रन तक ही पहुंच पाया था। रोहित ने पावरप्ले के आखिरी ओवर में लॉकी फर्गुसन पर चार चौके जड़कर मुंबई के समर्थकों में कुछ जान भरी। उन्होंने अंबाती रायुडु (15 गेंदों पर 12 रन) के साथ तीसरे विकेट के लिये 33 रन जोड़े। स्टीवन स्मिथ ने अपने कुशल क्षेत्ररक्षण से रायडू को रन आउट किया।

10वें ओवर के बाद स्कोर तीन विकेट पर 56 रन था लेकिन जंपा के अगले ओवर में उसने रोहित और कीरोन पोलार्ड (सात) के दो महत्वपूर्ण विकेट गंवाये। शार्दुल ठाकुर ने डीप मिडविकेट पर शानदार कैच लेकर रोहित को आउट करने में अहम भूमिका निभाई, लेकिन पोलार्ड ने लांग आन पर खड़े मनोज तिवारी को आसान कैच थमाया। हार्दिक पंड्या (10) और कर्ण शर्मा (एक) भी ज्यादा देर तक नहीं टिक पाये जिससे मुंबई का स्कोर छह विकेट पर 78 रन हो गया। कृणाल ने हालांकि एक छोर संभाले रखा जबकि जानसन ने दूसरे छोर से विकेट बचाये रखा। आखिरी तीन ओवरों में जानसन ने एक जबकि कृणाल ने दो छक्के लगाये। कृणाल की पारी में इनके अलावा तीन चौके भी शामिल हैं।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.