प्रदेश के 21 श्रेणी के विशेष योग्यजनों का होगा शत-प्रतिशत पंजीयन - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

प्रदेश के 21 श्रेणी के विशेष योग्यजनों का होगा शत-प्रतिशत पंजीयन

अजमेर । जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान कहा कि दिव्यांगों के लिए चलाए जा रहे पं. दीनदयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन शिविरों में शत-प्रतिशत दिव्यांगों का पंजीयन किया जाएगा। इसका आरम्भ 13 हजार 66 पेंशनर्स का पंजीयन कर किया जाएगा। जिले में लगने वाले राजस्व लोक अदालत अभियान न्याय आपके द्वार एवं पट्टा आंवटन अभियान के शिविरों में दिव्यांगों का पंजीयन किया जाएगा। उन्होंने यह बात सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्राी डाॅ. अरूण चतुर्वेदी के द्वारा पं. दीनदयाल विशेष योग्यजन अभियान के संबंध में आयोजित वीडियो कांफ्रेंस में कही।

डाॅ. चतुर्वेदी ने सोमवार को शासन सचिवालय म­ पं. दीनदयाल विशेष योग्यजन शिविर, 2017 के संबंध म­ जिला कलेक्टरों से विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से रूबरू होकर पंजीयन अभियान को सफल बनाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे।

उन्होने कहा कि यह ऐसा अभियान है जिसम­ मानवता की सेवा होगी और इसम­ हर व्यक्ति की भागीदारी सुनिश्चित करना है। उन्होन­ प्रथम चरण म­ विशेष योग्यजनों के चिन्हीकरण के साथ पंजीकरण अभियान म­ विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ-साथ स्वयंसेवी संस्थाओं, पंच, सरपंच, वार्ड पार्षद सहित सभी जनप्रतिनिधियों से आपसी समन्वय स्थापित कर सफल बनाने म­ सहयोग लेने के लिए गम्भीरता से कार्य करने के निर्देश दिये। प्रदेश म­ विशेष योग्यजनों का बेहतर जीवन बनाने के लिए राज्य म­ 01 जून, 2017 से शुरू कर दिया है जिसम­ प्रदेश के 21 श्रेणी के विशेष योग्यजनों का शत-प्रतिशत पंजीयन कराना सुनिश्चित कर­।

उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री इस अभियान के प्रति बहुत गम्भीर है और वह चाहती है कि प्रदेश के प्रत्येक विशेष योग्यजन का डाटा बेस तैयार हो और उन्ह­ उनकी जरूरत के अनुसार उसे लाभ मिले।

डाॅ. चतुर्वेदी ने विशेष योग्यजन अभियान के लिए जिलों म­ की जा रही तैयारियों का फीडबैक लेते हुए कहा कि इसम­ कही कमी या समस्या आएगी तो उसका प्राथमिकता से समाधान किया जायेगा।

इस अवसर पर मुख्य सचिव ओ.पी. मीणा ने जिला कलेक्टरों को निर्देश दिए की पं. दीनदयाल विशेष योग्यजन अभियान तीन चरणों म­ चलाया जायेगा। प्रथम चरण बहुत चुनौती पूर्ण है क्योंकि इसम­ सभी विशेष योग्यजनों का ई-मित्र केन्द्र एवं अटल सेवा केन्द्रों के माध्यम से निःशुल्क पंजीकरण करना है।

उन्होन­ निर्देश दिये कि राज्य म­ ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र म­ चल रहे अभियान में विशेष योग्यजनों के पंजीकरण कराने की जानकारी लोगों को देकर जागरूक कर­। मुख्य सचिव ने जिला कलेक्टरों को कहा कि दूसरे चरण के अभियान म­ विशेष योग्यजनों के निःशक्तता प्रमाण पत्रा जारी करने के लिए विधानसभावार शिविर आयोजित किया जायेगे जिनकी तैयारी अभी करना सुनिश्चित कर­। उन्होंने बताया कि इस अभियान की मुख्यमंत्री स्तर पर नियमित जिलेवार प्रभावी समीक्षा की जायेगी इसलिए आबादी की अनुपालना में­ विशेष योग्यजनों का पंजीकरण करना होगा।

विडियों कॉन्फ्रेंस में­ सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अशोक जैन ने जिला कलेक्टरों को निर्देश दिए कि विशेष योग्यजों का चिन्हीकरण, पंजीकरण करने के लिए सभी विभागों के निचले स्तर के कामिर्को को जोड़ना होगा और इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार के साथ कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होने सरकारी व निजी क्षेत्राम­ समस्त स्कूलों व कालेजों के साथ समस्त  आंगनबाडी केन्द्रों तक पहंुच बनाकर इस अभियान को सफल बनाने के लिए तत्परता से कार्य करने हेतु कहा।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक डाॅ. समित शर्मा ने पं.दीनदयाल विशेष योग्यजन शिविर , 2017 के संबंध म­ पावर प्रेजेन्टेशन प्रस्तुत करते हुए अभियान की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि अभियान का मुख्य उद्देश्य विशेष योग्यजनों का चिन्हीकरण कर पंजीयन करने के बाद संचालित विभिन्न योजनाओं म­ लाभ पहुंचाना है। उन्होंने चिन्हीकरण व पंजीयन करने की प्रक्रिया की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश म­ 40 हजार ई मित्रा केन्द्र एवं 10 हजार अटल सेवा केन्द्रों के माध्यम से 21 प्रकार के विशेष योग्यजनों का निःशुल्क पंजीकरण किया जाना है। इसके लिए समस्त जिला कलेक्टर अपने जिलों म­ व्यापक स्तर पर कार्ययोजना तैयार कर­।

इस अवसर पर कोटा, भीलवाडा, उदयपुर, भरतपुर, बीकानेर, जयपुर के जिला कलेक्टरों ने भी विशेष योग्यजन अभियान को अधिक प्रभावी बनाने के लिए कई सकारात्मक सुझाव पर दिये।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.