...क्योंकि, भारत की उम्मीद बने पांड्या पर भारी पड़ गई जड़ेजा की ये गलती - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

...क्योंकि, भारत की उम्मीद बने पांड्या पर भारी पड़ गई जड़ेजा की ये गलती

Hardik Pandya, Indian cricket Team, Latest News, Cricket News, London, Oval, india, Pakistan, ICC Champions Trophy 2017, India Pak Final, Cricket MATCH
लंदन। आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के तहत आज द ओवल में भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए फाइनल मैच में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने भारत की क्रिकेट टीम को 180 रनों से करारी शिकस्त दी है। पाकिस्तान से भारत का हरा कर ये फाइनल मैच और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम कर ली और पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी विजेता बन गया है। 339 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पूरी टीम इंडिया 158 के कुल स्कोर पर आउट हो गई।

पाकिस्तान की ओर से भारत को दिए गए 339 रनों के विशाल टारगेट का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के संभी धुरंधर सस्ते में ही आउट होकर 'बैक टू पवैलियन' हो गए। भारतीय क्रिकेट टीम के सभी मास्टर बल्लेबाजों के आउट होने के साथ ही भारतीय दर्शकों की उम्मीदें टूट चुकी थी, लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी हार्दिक पांड्या ने भारतीय दर्शकों की टूटी हुई उम्मीदों को एक बार फिर से जगाने का काम किया। भारत की पूरी टीम में से हार्दिक पांड्या ने सबसे ज्यादा 76 रन महज 43 गेंदों पर बनाए, जिन्होंने अपनी पारी में हैट्रिक के साथ 6 छक्के और 4 चौके भी जड़़े।

पांड्या को बल्लेबाजी में जमता हुआ देखकर निराश हो चुके भारतीय दर्शकों की उम्मीदें एक बार फिर से जगी और भारत को जीत दिलाने में पांड्या की सबसे अहम भूमिका नजर आने लगी, लेकिन अफसोस कि एक गलती की उन्हें और सभी भारतीय दर्शकों को भारी कीमत चुकानी पड़ी। पाकिस्तानी गेंदबाज फखर जमान की गेंद पर रन लेते वक्त पांड्या रन आउट हो गए।

पांड्या के रन आउट होने में उनके साथ खेल रहे रवींद्र जड़ेजा की गलती ज्यादा दिखाई दी। रन लेने की कोशिश में दौड़ते हुए जहां पांड्या स्ट्राइक तक पहुंचने में कामयाब हो गए थे, नहीं जड़ेजा दौड़कर रन पूरा करने के बजाय वापस क्रीज पर लौट गए। ऐसे में पांड्या को रन आउट होकर पवैलियन लौटना पड़ गया। पांड्या के आउट होकर पवैलियन लौटते वक्त उनके चेहरे पर शायद इसी बात का अफसोस और गुस्सा साफ दिखाई दे रहा था कि वे चाहते हुए भी भारत की जीत दिलाने में कामयाब होती हुई कोशिश करते हुए भी, दूसरे खिलाड़ी की वजह से नाकामयाब हो गए। 

दरअसल, रिस्क भरा रन लेने की कोशिश करने में भी पांड्या की क्रीज पर आने की कोशिश ज्यादा थी, क्योंकि उस वक्त वे बल्लेबाजी में पूरी तरह से जम चुके थे। और इसी वजह से वे क्रीज पर आकर बल्लेबाजी करना चाहते थे। वहीं उनके साथ बल्लेबाजी कर रहे रवींद्र जड़ेजा अभी बल्लेबाजी में खुलने ही लगे थे।

हालांकि इसमें कोई शक नहीं है कि जड़ेजा पांड्या के साथ मिलकर एक सफल साझेदारी को बखूबी निभा रहे थे, लेकिन अगर जड़ेजा वापस क्रीज पर लौटने की बजाय अगर दौड़कर रन पूरा करने की कोशिश करते तो हो सकता था कि शायद वे रन पूरा कर लेते। और अगर जड़ेजा रन पूरा करने में कामयाब नहीं भी हो पाते तो भी वे खुद आउट होकर पांड्या को आउट होने से बचा सकते थे। ऐसे में हो सकता था कि पांड्या की भारत को जीत दिलाने की कोशिश पूरी तरह से कामयाब हो जाती और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 पर पाकिस्तान की बजाय भारत का कब्जा हो जाता।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.