महिलाओं ने कैमरे में कैद की अजमेर की खूबसूरती, तीन दिवसीय फोटो प्रदर्शनी शुरू - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

महिलाओं ने कैमरे में कैद की अजमेर की खूबसूरती, तीन दिवसीय फोटो प्रदर्शनी शुरू

अजमेर । अरावली पर्वतमाला की तलहटी में बसा अजमेर और आसपास का क्षेत्र कितना खूबसूरत है। महिलाओं की नजर से यह देखना है तो सूचना केंद्र की प्रदर्शनी दीर्घा में चले आइये। यहां आपको अजमेर का कल्चर, नेचर, हैरिटेज, पशु-पक्षी, खानपान और हर वो नजारा मिलेगा जिसके लिए अजमेर जाना जाता है। प्रदर्शनी में अजमेर की खासियत से जुड़े कई अनछुए पहलू भी हैं, जिनसे अब तक बहुत ज्यादा लोग परिचित नहीं थे।

विश्व फोटोग्राफी दिवस के अवसर पर आज सूचना केंद्र की प्रदर्शनी दीर्घा में तीन दिवसीय प्रदर्शनी एवं फोटोग्राफी प्रतियोगिता चित्रांजलि का शुभारंभ हुआ। जिला प्रशासन, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, अजमेर विकास प्राधिकरण तथा पृथ्वीराज फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अजमेर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शिव शंकर हेड़ा ने कहा कि इस तरह के आयोजन और कैमरे की नजर से अजमेर की खूबसूरती देखना अद्भुत अनुभव है। अजमेर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित होने जा रहा है। प्रकृति और प्रगति का यह सामंजस्य अजमेर को अनूठा रूप देता है। अजमेर में विकास कार्यों के लिए धन की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने कहा कि इस तरह के आयोजन नई ऊर्जा प्रदान करते है। अजमेर को महिलाओं के कैमरे की नजर से देखना और नए एंगल से शहर और आसपास के खूबसूरत नजारों का यह संगम अपने आप में अनूठा है। अजमेर एक ऐसा शहर है जहां विरासत के साथ ही विकास की भी विपुल संभावनाएं है। उन्होंने सूचना केन्द्र की प्रदर्शनी दीर्घा को आर्ट  गैलेरी के रूप में विकसित करने की घोषणा करते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी अजमेर को शीघ्र ही एक नई पहचान मिलेगी। स्मार्ट सिटी योजना के पब्लिक आर्ट एवं कल्चर प्रोग्राम के तहत सूचना केन्द्र प्रदर्शनी दीर्घा में लोक कलाओं को चित्रित किया जाएगा ताकि आमजन इनसे परिचित हो सके।

पृथ्वीराज फाउंडेशन के दीपक शर्मा ने कहा कि प्रतियोगिता में बड़ी संख्या में महिलाओं एवं बालिकाओं की  प्रविष्टयां मिली है। अजमेर को हर एंगल से कवर किया गया है। यह प्रतियोगिता निश्चित रूप से महिला फोटोग्राफी के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने प्रतियोगिता के विभिन्न पहलुओं के बारे में जानकारी दी।

इससे पूर्व सभी अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलन कर प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। अतिथियों ने प्रदर्शनी में लगाए गए फोटोज को गम्भीरता से देखा और प्रशंसा की। कार्यक्रम में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सचिव मेघना चौधरी, सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के उप निदेशक महेश चन्द्र शर्मा, सुरेश माथुर, अनुपम भटनागर, के.के.शर्मा, राजकुमार नाहर, महेन्द्र विक्रम सिंह, संदीप पाण्डे, गिरीराज माथुर, ऋषिराज सिंह, नदीम खान तथा राजेश कश्यप सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन पृथ्वीराज फाउंडेशन की अध्यक्ष डाॅ. पूनम पाण्डे ने किया। अनिल जैन ने आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर लोक कला संस्थान के संजय कुमार सेठी ने खूबसूरत रंगोली बनाई व संजय शर्मा ने कैमरे की विकास यात्रा को दर्शाते हुए पुराने दुर्लभ कैमरे प्रदर्शित किए।

एक्सपर्ट ने जांचा फोटोग्राफ का महत्व और गुणवत्ता, सोमवार को घोषित होगा परिणाम

प्रदर्शनी से पूर्व फोटोग्राफी क्षेत्रा के एक्सपर्ट जयपुर से आए ख्यातनाम फोटोग्राफर पुरूषोत्तम दिवाकर, श्वेता गोयल एवं मोनिका पंचोली ने 80 से अधिक महिला प्रतिभागियों की 600 से ज्यादा फोटोग्राफ को जांचा एवं परिणाम दिया। प्रतियोगिता के तहत अजमेर और पुष्कर की खूबसूरती, प्राकृतिक नजारे, नसियां, तारागढ़, ढ़ाई दिन का झोपड़ा, पुष्कर मेला, उर्स मेला, बादशाह की सवारी, अजमेर में मानसून, स्मार्ट सिटी, हवाई अड्डा, सूर्योदय और सूर्यास्त, डेली लाइफ, फूल एवं अन्य श्रेणियों में 600 से ज्यादा फोटो मिले। इनमें से 300 फोटो प्रदर्शनी में लगाए गए है। इन फोटो में से विभिन्न श्रेणियों के फोटो को चयनित कर पुरस्कार दिए जाएंगे। पुरस्कारों की घोषणा प्रदर्शनी के अन्तिम दिन सोमवार को की जाएगी।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.