गणेश प्रतिमा विसर्जन के लिए आजाद पार्क पर बनेंगे कुंड,मिट्टी और गोबर से बनी मूर्तियों के उपयोग को मिलेगा बढ़ावा - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

गणेश प्रतिमा विसर्जन के लिए आजाद पार्क पर बनेंगे कुंड,मिट्टी और गोबर से बनी मूर्तियों के उपयोग को मिलेगा बढ़ावा

अजमेर। अजमेर जिला प्रशासन, नगर निगम एवं विभिन्न संगठनों द्वारा इस वर्ष अनंत चतुर्थी पर गणेश मूर्ति विसर्जन के लिए विशेष व्यवस्थाएं की जाएंगी। शहर में मूर्ति विसर्जन के लिए आजाद पार्क में कुंड बनेंगे, यहां तक मूर्तियों को पहुंचाने के लिए यातायात की भी विशेष व्यवस्था रहेगी। बड़े वाहनों पर मूर्ति लाना प्रतिबंधित रहेगा। शहर में प्लास्टर आॅफ पेरिस की मूर्तियां अब नहीं बनेंगी। मिट्टी से बनने वाली मूर्तियों की ऊंचाई तीन फीट से अधिक नहीं होगी।

गणेश चतुर्थी पर गणेश जी की मूर्ति स्थापना एवं अनंत चतुर्दशी पर गणेश मूर्ति विसर्जन से संबंधित बैठक बुधवार अतिरिक्त जिला कलेक्टर शहर अरविंद कुमार सेंगवा एवं महापौर धर्मेंद्र गहलोत, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भोलाराम की अगुवाई में संपन्न हुई। बैठक में विभिन्न संगठनों से चर्चा के पश्चात गणेश चतुर्थी एवं अनंत चतुर्दशी के पर्व पर विशेष व्यवस्थाएं करने का निर्णय किया गया।

बैठक में पर्यावरण हितैषी गणेशोत्सव मनाने के लिए जिलेवासियों का आह्वान किया गया। गणेशोत्सव के दौरान पीओपी की मूर्तियों पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। मिट्टी एवं गाय के गोबर की मूर्ति बनाकर उसकी स्थापना की जानी चाहिए।  मूर्ति स्थापना के लिए लगने वाले पण्डालों को मुख्य मार्ग एवं सड़कों से पर्याप्त दूरी पर लगाया जाना चाहिए।  जिले में तीन फीट तक की मूर्ति की ही स्थापना सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय थाना अधिकारी को पाबंद किया गया है। थानाधिकारी अपने क्षेत्र में मिट्टी की ही मूर्ति स्थापित करने के लिए भी कार्य करेंगे।

विसर्जन के पश्चात प्रतिमाओं को मण्डल के द्वारा किसी व्यक्ति को प्रदान करने पर भी चर्चा की गई। गणपति बप्पा की याद को वर्षभर संजोए रखने के लिए मूर्ति को व्यक्ति द्वारा ससम्मान अपने पास रखा जाएगा। इसी प्रकार प्रतिमा के विसर्जन के पश्चात मिट्टी में पौधे लगाकर उनकों पेड़ बनने तक सुरक्षा एवं पोषण उपलब्ध करवाकर गणेशजी के आशीर्वाद को चिरस्थायी बनाने के सुझाव पर भी विचार विमर्श किया गया।

गणेशोत्सव के दौरान भक्ति संगीत के लिए ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग करने के लिए सक्षम स्तर पर अनुमति लेनी होगी। पूर्व में जारी दिशा निर्देशों के अनुसार डीजे के उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री सेंगवा ने बैठक में नेशनल ग्रीन ट्रीब्यूनल के फैसले और उस पर केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्राण मण्डल द्वारा जारी की गई गाईड लाइन की जानकारी देते हुए बताया कि प्लास्टर आॅफ पेरिस द्वारा निर्मित मूर्तिया व अन्य उत्पाद पर्यावरण के लिए हानिकारक है। इस कारण प्लास्टर आॅफ पेरिस के उत्पादों को हतोत्साहित किया जाना जरूरी है। मिट्टी व पर्यावरण हितैषी उत्पादों को बढ़ावा देना हम सबकी जिम्मेदारी है।

नगर निगम के महापौर धर्मेंद्र गहलोत ने बताया कि निगम कुंड में प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए भी विशेष व्यवस्था करेगा। इन कुण्डों पर नगर निगम का स्टाॅफ एवं अन्य संगठनों के वाॅलिनटियर तैनात रहेंगे। जो प्रतिमा विसर्जन के लिए आने वालों का सहयोग करेंगे।

बैठक में उपस्थित पार्षद चन्द्रेश सांखला, विश्व हिन्दू परिषद के विभाग मंत्री शशि प्रकाश इंदौरिया, सहमंत्री संजय तिवारी, अध्यक्ष सरदारमल जैन, लेखराज सिंह, यूनाईटेड अजमेर के कीर्ति पाठक, उप पुलिस अधीक्षक  प्रिति चौधरी, नगर निगम के उपायुक्त गजेन्द्र सिंह रलावता, मूर्ति निर्माता हजारीलाल एवं पूनाराम आदि ने भी पर्यावरण हितैषी गणेशोत्सव पर सहमति जतायी।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.