15 साल पुराने रेप के मामले में गुरमीत राम रहीम को मिली 10 साल की सजा - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

15 साल पुराने रेप के मामले में गुरमीत राम रहीम को मिली 10 साल की सजा

Chandigarh, Haryana, High Court, Punjab, Dera Sachcha Sauda, Gurmeet Ram Rahim, Dera Supporters, Panchkula Court, Rohtak Court
चंडीगढ़। 15 साल पुराने रेप केस में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद आज सजा सुना दी गई है। रोहतक की सुनारिया जेल में बनाई गई अस्थाई कोर्ट में जज जगदीप सिंह ने राम रहीम को 10 साल कारावास की सजा सुनाई है। इस मामले में राम रहीम को आईपीसी की धारा 376 के तहत बलात्कार का दोषी करार दिया गया था। इससे दौरान राम रहीम कोर्ट में माफी की मांग भी करते रहे और उनके आंसू तक भी छलक पड़े।

डेरा सच्चा सौदा की अनुयायी साध्वी के साथ यौन शोषण मामले में 15 साल बाद दोषी करार दिए गए डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को आज सजा का ऐलान हो गया है। कोर्ट ने राम रहीम को इस मामले में 10 साल की सजा सुनाई है। हालांकि अभी फैसले की कॉपी किसी को नहीं दी गई है। इस मामले में जो डिटेल्ड आॅर्डर है, उसे अभी पढ़ा नहीं गया है। कोर्ट रूम के दूसरी साइड में सिथत कमरे में अभी आॅर्डर को विस्तार से पढ़ा जा रहा है।

सीबीआई कोर्ट से दोषी करार दिए गए डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को आज सजा सुना दी गई है। सुरक्षा कारणों से रोहतक की सुनारिया जेल में बनाई गई अस्थाई कोर्ट में जज जगदीप सिंह ने राम रहीम को 10 साल कारावास की सजा सुनाई है। आज दोपहर ढ़ाई बजे सजा पर बहस के दौरान सीबीआई ने कहा कि ये रेयरेस्ट ऑफ रेयर केस है। इसलिए राम रहीम को अधिकतम सजा दी जानी चाहिए, जिसके बाद राम रहीम के वकील ने कोर्ट के बताया कि राम रहीम ने सामाजिक कार्य किए हैं। इसलिए सजा में नरमी बरती जानी चाहिए।

रोहतक की सुनारिया जेल में बनाई गई अस्थाई कोर्ट में सजा सुनाए जाने से पहले राम रहीम ने कोर्ट के सामने माफी की मांग की। इस दौरान राम रहीम रो पड़े और कोर्ट से रहम की गुहार लगाई। जबकि सीबीआई ने किसी भी तरह की राहत दिए जाने का विरोध करते हुए कहा कि राम रहीम को आजीवन कारावास की सजा दी जाए। गौरतलब है कि रोहतक की सुनारिया जेल में बनाए गए कोर्ट रूम में केवल दोनों पक्षों के वकीलों को ही जाने की इजाजत थी। जज द्वारा फैसला पढ़े जाने के बाद दोनों पक्षों के वकीलों ने बाहर आकर इसकी जानकारी दी।

गौरतलब है कि गुरमीत राम रहीम पर साल 2002 में साध्वी ने यौन शोषण का मामला दर्ज कराया था। इस केस में लंबी सुनवाई के बाद पंचकूला में सीबीआई की विशेष कोर्ट ने 25 अगस्त 2017 को राम रहीम को दोषी करार दिया था। इसके बाद राम रहीम के समर्थकों ने हरियाणा के कई जिलों में जमकर उत्पात मचाया था। इस हिंसा में 38 लोग मारे गए थे, वहीं सैकड़ों की संख्या में लोग घायल हुए थे।




Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.