आनासागर झील बनेगी शहर की लाइफ लाइन, अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के बोर्ड आॅफ डायरेक्टर्स की बैठक संपन्न - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

आनासागर झील बनेगी शहर की लाइफ लाइन, अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के बोर्ड आॅफ डायरेक्टर्स की बैठक संपन्न

अजमेर। अजमेर शहर की तकदीर और तस्वीर बदलने जा रही स्मार्ट सिटी सहित अन्य योजनाओं से आमजन को शीघ्र ही लाभ मिलने लगेगा। स्मार्ट सिटी योजना में सौन्दर्यीकरण एवं पर्यटन विकास के लिए  आनासागर झील में वाटर स्पोर्टस एवं यात्राी परिवहन भी प्रस्तावित किया जा रहा है। इसके तहत यात्री झील के किनारे शहर के एक कोने से दूसरे कोने तक नाव से यात्रा कर सकेंगे। स्मार्ट सिटी सहित अन्य योजनाओं के तहत कार्यों को शीघ्र पूरा कराया जाएगा। शहर में शेष रहे सीवरेज कनेक्शन शीघ्र जारी किए जाएंगे। जलापूर्ति सुधार के लिए भी स्मार्ट सिटी योजना में प्रस्ताव लिए जा रहे है।

अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के बोर्ड आॅफ डायरेक्टर्स की बैठक आज कम्पनी के चेयरमैन तथा नगरीय विकास विभाग के प्रमुख शासन सचिव मंजीत सिंह की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में योजना के तहत कराए जाने वाले विभिन्न कामों की प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक में सिंह ने अजमेर में सीवरेज कनेक्शन जारी करने की समीक्षा करते हुए कहा कि शेष रहे उपभोक्ताओं को जल्द से जल्द सीवरेज कनेक्शन जारी किए जाएं। उन्होंने कलेक्ट्रेट में स्थापित किए जा रहे कमांड कंट्रोल सेन्टर की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि इसका अधिकतम उपयोग सुनिश्चित किया जाए। यह सुरक्षा एवं विकास की दृष्टि से शहर का अहम कंट्रोल रूम बनने जा रहा है। ज्यादा से ज्यादा सेवाओं को इससे जोड़ा जाए।

प्रमुख शासन सचिव सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि हैरिटेज योजना के तहत जयपुर रोड के सौन्दर्यीकरण सहित अन्य कामों को शीघ्र पूरा किया जाए। उन्होंने सुभाष उद्यान में चल रहे सौन्दर्यीकरण के कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि यह कार्य भी तय समय सीमा में पूरा करवा लिया जाए। जवाहर रंगमंच को पूरी तरह एयर कंडीशनर बनाने तथा इसके आधुनिकीकरण के कार्य को भी प्रस्तावित किया गया।

जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने आनासागर झील को शहर की लाइफ लाइन की तर्ज पर विकसित करने की बात कहते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी योजना के तहत यहां वाटर स्पोटर्स व वाटर एम्यूजमेन्ट पार्क के साथ ही यात्राी परिवहन की भी पर्याप्त संभावनाएं हैं। झील के चौपाटी वाले कोने से सामने की तरफ विश्राम स्थली वाले किनारे तक नावों को इस तरह संचालित किया जा सकता है कि यात्री इनका उपयोग कर सके। विश्राम स्थली की तरफ बड़ी संख्या में काॅलोनियां हैं। ऐसे में यह जल रूट सस्ता परिवहन साधन साबित हो सकता है। बैठक में शहर में साईकलिंग के लिए रूट तैयार करने, पार्किंग के नए स्थान तैयार करने, ओपन एयर जीम तैयार करने, शहर को खुले में शौच से मुक्त करने आदि पर चर्चा की गई। जिला प्रशासन शीघ्र ही रेलवे लाइन के दोनो ओर भी मोबाइल टाॅयलेट तैयार करवाएगा ताकि पटरियां खुले में शौच से मुक्त हो सके।

बैठक में शहर में सफाई एवं घर-घर कचरा संग्रहण की भी समीक्षा की गई। बैठक में महापौर धर्मेंद्र गहलोत ने बताया कि पंचशील स्थित कांजी हाउस को तीन मंजिला कांजी हाउस के रूप में विकसित किया जाएगा। इसी तरह अजमेर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शिवशंकर हेड़ा तथा नगर निगम के आयुक्त हिमांशु गुप्ता ने भी विभिन्न सुझाव दिए। बैठक में स्मार्ट सिटी योजना के तहत किए जाने वाले कार्यों, सहित अन्य प्रस्तावों पर भी चर्चा की गई। बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर किशोर कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.