ये लीजिए, आप भी जान लीजिए देश के इन 14 'ढोंगी' बाबाओं को, अखाड़ा परिषद ने जारी की सूची - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

ये लीजिए, आप भी जान लीजिए देश के इन 14 'ढोंगी' बाबाओं को, अखाड़ा परिषद ने जारी की सूची

all india akhara parishad, akhara parishad, akhil bharatiya akhara parishad, akhil bhartiya akhara parishad, india news, india, akhada parishad, radhe maa, allahabad, fake baba, fake baba list, baba ram rahim, ram rahim, fake babas, fake guru, fake godman, dera sacha sauda, ram rahim in jail, narendra giri
नई दिल्ली। युवतियों को साध्वी बनाकर उनके साथ यौन शोषण करने के आरोप में जेल ही हवा खा रहे गुरमीत राम रहीम और आसाराम समेत कई ऐसा बाबा है, जो सुर्खियों में बने रहते हैं। इस तरह के कथित बाबाओं के आपराधिक मामलों को देखते हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने इस प्रकार के बाबाओं के खिलाफ मुहीम छेड़ दी है। परिषद ने ऐसे 14 कथित ढोंगी और फर्जी बाबाओं की सूची जारी की है, जिन पर सनातन धर्म का गलत प्रचार करने या आपराधिक कार्यों में लिप्त रहने के आरोप हैं।

इलाहाबाद में आयोजित साधु-संतों की जानी-मानी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की कार्यकारिणी की बैठक में कथित फर्जी बाबाओं की यह सूची जारी की गई है। इस सूची में 14 बाबाओं को फर्जी करार दिया है, जिन पर सनातन धर्म का गलत प्रचार करने या फिर आपराधिक कार्यों में लिप्त रहने के आरोप लगे हैं। सूची में आसाराम, गुरमीत राम रहीम, रामपाल और राधे मां का नाम भी शामिल है। परिषद् की बैठक में कई अन्य बाबाओं के नाम पर भी फैसला लिया गया।

बैठक के बाद फर्जी बाबाओं की सूची जारी करते हुए महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि हम यह सूची केंद्र सरकार, सभी राज्य सरकारों और विपक्षी दलों को सौंपेंगे। साथ ही उनसे इन फर्जी बाबाओं के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए अपील भी करेंगे। इसके अतिरि​क्त हम सरकार से एक कानून बनाने की मांग करेंगे कि, जिससे इस प्रकार के फर्जी बाबाओं पर अंकुश लग सके, जो किसी संप्रदाय से नहीं हैं और साधु संतों को कलंकित करने का काम कर रहे हैं।

महंत गिरि ने कहा कि सभी 13 अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने बैठक में हिस्सा लिया। बैठक में निर्णय लिया गया कि धर्म को बदनाम करने वाले फर्जी बाबाओं से समाज की रक्षा की जाएगी। उन्होंने कहा कि फर्जी संतों और बाबाओं के कारण ही समाज में साधु-संतों को लेकर गलत संदेश जा रहा है। जिन्हें रोकना जरूरी है, नहीं तो इनके कारण ही सच्चे संतों के प्रति भी समाज का विश्वास खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सच्चे संतों का धन.वैभव से कोई लेना-देना नहीं होता, उनके लिए सिर्फ जगत कल्याण ही सर्वोपरि है। इसके साथ ही सच्चे संत कभी महिलाओं को शिष्या नहीं बनाते हैं।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने कहा कि काफी दिनों से फर्जी बाबाओं के द्वारा दुष्कर्म, शोषण और देश की भोली-भाली जनता को ठगने की खबरें आती रही हैं। फर्जी धर्मगुरुओं से सनातन धर्म के स्वरूप को काफी नुकसान पहुंचा है। कई बाबाओं के खिलाफ देश की अदालतें भी फैसला दे चुकी हैं। ऐसे में हिंदू धर्म और संत समाज की बदनामी होती है। इसलिए परिषद ने ये फैसला लिया है कि वह स्वयं फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी कर दें ताकि जनता उनसे सचेत रहें।

सूची में हैं इन बाबाओं के नाम :
  1. आसाराम उर्फ आशूमल शिरमलानी
  2. सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां
  3. सच्चिदानंद गिरि उर्फ सचिन दत्ता
  4. प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह
  5. ओम बाबा उर्फ विवेकानंद झा
  6. निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह
  7. इच्छाधारी भीमानंद उर्फ शिवूर्ति द्विवेदी
  8. स्वामी असीमानंद
  9. ओम नम: शिवाय बाबा
  10. नारायण सांई
  11. रामपाल
  12. कुशिमुनि
  13. बृहस्पति गिरि
  14. मलखान गिरि



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.