पीएम मोदी ने किया बाड़मेर में पचपदरा रिफाइनरी कार्यों का शुभारंभ, कहा - यह संकल्प से सिद्धि का समय है - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

पीएम मोदी ने किया बाड़मेर में पचपदरा रिफाइनरी कार्यों का शुभारंभ, कहा - यह संकल्प से सिद्धि का समय है

Barmer, Rajasthan, CM Raje, Vasundhara Raje, Refinery, Barmer Refinery, Pachparda Refinery, Barmer News, Rajasthan News, PM Modi, Narendra Modi, Narendra Modi in Barmer, Narendra Modi in Pachpadra
बाड़मेर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राजस्थान के बाड़मेर जिले में 43 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की लागत से तैयार होकर पचपदरा में स्थापित होने वाली रिफाइनरी के कार्यों का शुभारंभ किया। रिफाइनरी कार्यों का शुभारंभ करने के साथ ही पीएम मोदी ने प्रदेश को एक ऐसी रिफाइनरी की सौगात दी है, जो देश की सबसे पहली ईको-फ्रेंडली रिफाइनरी होगी, जो BS-6 मानक की पहली रिफाइनरी होगी।
 

पीएम मोदी ने रिफाइनरी कार्यों का शुभारंभ करने के अवसर पर यहां आयोजित कार्यक्रम में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह संकल्प से सिद्धि का समय है। हमें अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए काम पर फोकस करना चाहिए। मैं सुनता रहता था कि राजस्थान में कांग्रेस और अकाल जुड़वा भाई हैं। जहां कांग्रेस जाती है, अकाल साथ-साथ जाता है। इस दौरान पीएम ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तारीफ भी की।


इस मौके पर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाने साधे और कई योजनाओं के बारे में बात की। इस दौरान पीएम ने प्रधानमंत्री जन धन योजना, उज्जवला योजना समेत कई योजनाओं के बारे में अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया। इस दौरान पीएम ने वन रैंक वन पैंशन योजना का जिक्र करते हुए कहा कि, 'रिफाइनरी की योजना तो फिर भी कागजों में तो थी, लेकिन वन रैंक वन पैंशन योजना तो कागजों में भी कहीं नहीं थी। ये तो सिर्फ चुनावी जमले ही थे, जिस पर हमारी सरकार ने लोगों के हितों को ध्यान में रखकर अमल में लाने का काम किया।'

गौरतलब है कि बाड़मेर के पचपदरा में स्थापित होने वाली इस रिफाइनरी का निर्माण कार्य 2022 तक पूरा होने की बात कही जा रही है। इस रिफाइनरी की क्षमता 90 लाख टन की होगी। इससे प्रदेश में 14 जिलों को सीधे लाभ पहुंचेगा। इससे प्रदेश को 34 लाख करोड़ की अतिरिक्त लाभ होगी। यह देश की पहली BS-6 मानक की पहली रिफाइनरी होगी, अभी तक देश में BS-3 और BS-4 स्तर की ही रिफाइनरी है।

इस रिफाइनरी के साथ पेट्रोकेमिकल कॉम्पलेक्स भी बनाया जा रहा है। रिफाइनरी एचपीसीएल और राजस्थान सरकार के संयुक्त उपक्रम के तहत बनाई जा रही है। इसमें एचपीसीएल की हिस्सेदारी 74 प्रतिशत और राजस्थान सरकार का शेयर 26 प्रतिशत रहेगा। रिफाइनरी से प्रतिदिन 5 लाख बैरल तेल निकाला जाएगा। इसकी क्षमता 9 एमएमटीपीए है।



मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मंगलवार को मीडिया को बताया कि रिफाइनरी के निर्माण अवधि के दौरान अप्रत्यक्ष रूप से 40 हजार लोगों को नौकरियां मिलेगी। उन्होंने बताया कि नई रिफाइनरी अघतन बीएस-6 ईंधन का निर्माण करेगी। इधर, प्रधानमंत्री की बाड़मेर यात्रा को देखते हुए पाक से सटे पश्चिमी को सील कर दिया गया है। बीएसएफ के डीआईजी की कमान में बॉर्डर सील किया गया है। प्रधानमंत्री की यात्रा के चलते गुजरात से राजस्थान तक के पाकिस्तान से सटे बॉर्डर पर जवानों की नफरी और चौकसी बढ़ाई गई है।

भारत सरकार के लिए घाटे का सौदा :
पीएम मोदी ने कहा कि अगर पहली की सरकारोें ने अपने वादे पूरे किए होते तो आज इस रिफाइनरी प्रोजेक्ट को शुरू करने में न तो इतनी देर होती और न ही इतना पैसा खर्च करना पड़ता। इस दौरान पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि उन्होंने एक कागज पर लटकी योजना को धरातल पर लाने के कार्य में सकारात्मक भूमिका निभाई है।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.