ब्यावर गैस सिलेंडर हादसा : मुख्यमंत्री राजे ने मृतकों के परिजनों को बंधाया ढांढस, मृतकों को 2 लाख और घायलों को मिलेगी 50 हजार की मदद - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

ब्यावर गैस सिलेंडर हादसा : मुख्यमंत्री राजे ने मृतकों के परिजनों को बंधाया ढांढस, मृतकों को 2 लाख और घायलों को मिलेगी 50 हजार की मदद

अजमेर । मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज ब्यावर पहुंचकर गैस सिलेंडर हादसे में मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने हादसे में मृतकों के परिजनों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से कुल 2-2 लाख रूपए तथा घायलों को 50 हजार रूपए आर्थिक सहायता की घोषणा की। इसी प्रकार श्री सीमेंट लिमटेड द्वारा भी प्रत्येक मृतक के परिजन को एक-एक लाख रूपए दिए जाएंगे।  उन्होंने राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय ब्यावर एवं जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय  अजमेर में उपचारत घायलों से मुलाकात कर कुशलक्षेम पूछी। मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों को निर्देश दिए लिक उपचार में किसी तरह की कोताही नहीं बरती जाए।
   
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे आज शाम ब्यावर पहुंची और नंद नगर स्थित कुमावत समाज के भवन में हुए गैस सिलेण्डर हादसे में मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि दुख की इस घड़ी में पूरी सरकार आपके साथ है। ईश्वर आपको यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।
   
मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रूपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। साथ ही एक लाख रूपए श्री सीमेंट द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे। घायलों को 50 हजार रूपए की सहायता दी जाएगी। इसी तरह गैस सिलेंडर विस्फोट से जिन मकानों को क्षति पहुंची है, उन मकानों का पीडब्ल्यूडी से आंकलन कराकर नुकसान का मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने जिला कलेक्टर गौरव गोयल को निर्देश दिए कि इस संबंध में यथाशीघ्र कार्यवाही प्रारंभ कर पीड़ितों को राहत प्रदान करें। उन्होंने जिला कलेक्टर से हादसे के कारणों और अब तक की गई राहत कार्य की जानकारी ली।
   
इसके पश्चात मुख्यमंत्री राजे पहले ब्यावर के राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय तथा उसके बाद अजमेर के जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय पहुंचीं। उन्होंने वहां पर भर्ती 5 घायलों की कुशलक्षेम पूछते हुए कहा कि आपके उपचार में किसी तरह की मी नहीं आने दी जाएगी। राजे ने चिकित्सकों को निर्देश दिए कि घायलों के उपचार में किसी तरह की कमी नहीं रहे। उन्हें समस्त चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करायी जाए।
   
इस अवसर पर मुख्यमंत्री राजे के साथ चिकित्सा मंत्री कालीचरण सर्राफ, शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिता भदेल, स्थानीय विधायक शंकर सिंह रावत, प्रो बी.पी सारस्वत, संभागीय आयुक्त हनुमान सहाय मीना, पुलिस महानिरीक्षक मालिनी अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे।
सेना ने संभाला मोर्चा, जल्द हटेगा मलबा
   
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने नसीराबाद छावनी के अधिकारियों से बातचीत कर निर्देश दिए कि ब्यावर हादसे में मलबे को हटाने में सेना भी सहायता करे। सेना ने राहत कार्य की कवायद शुरू कर दी। उन्होंने जिला प्रशासन और राहत कार्य में लगी टीम को निर्देश दिए कि वे राहत कार्य पूरी तरह तकनीकी रूप से एवं सावधानी पूर्वक चलाया जाए। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने राहत पहुंचाने में अच्छा काम किया है।

पानी और बिजली की व्यवस्था सुधारने के निर्देश
   
मुख्यमंत्री राजे ने अजमेर विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक को निर्देश दिए कि तुरन्त क्षेत्र की विद्युत व्यवस्था को सुचारू करें। इसी तरह जलदाय विभाग के प्रमुख शासन सचिव को निर्देश दिए कि पेयजल एवं लाइनों से संबंधित समस्या तत्काल दूर करें।

मुख्यमंत्री ने संवेदनशीलता के साथ परिजनों से की बातचीत
मुख्यमंत्री ने ब्यावर के नंदनगर में मृतकों के परिजनों से मिलकर सभी को सांत्वना दी तथा जिन परिजनों से वह मौके पर नहीं मिल पायी उन्हें ब्यावर से अजमेर जाते समय रास्ते में मोबाइल से बात कर सांत्वना दी।

मंत्रीगण कर रहे राहत कार्यों की मानिटरिंग
मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में चिकित्सा मंत्री श्री काली चरण सर्राफ एवं कृषि मंत्री प्रभूलाल सैनी ब्यावर में मौके पर ही रहेंगे तथा समस्त राहत कार्य सम्पन्न कराने की मॉनिटरिंग करेंगे।




Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.