हाथीराम संत के मेले में झूलेलाल के बहिराणे की सवारी में झूमे नाचे श्रद्धालु - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

हाथीराम संत के मेले में झूलेलाल के बहिराणे की सवारी में झूमे नाचे श्रद्धालु

अजमेर। किशन गुरनानी मौहल्ला देहली गेट के बाहर स्थित सन्त हाथीराम धाम दरबार में योगेश्वर महन्त हाथीराम के तीन दिवसीय मेले में सोमवार को पूज्य झूलेलाल साहिब के बहिराणे की सवारी के भगत चन्द्रप्रकाश एवं उनकी मण्डली के द्वारा झूलेलाल साई असांजी आस पुजांई,साई हाथीराम जो ही मेलो ही मेलो आ प्यारा ईन्दो को भागन वारो ही मेलो,भगत ताराचन्द प्यारो हो असां सभनि जो प्यारो हो,लाल मुहिंजी पत रखजां भला झूलेलालण, झूलण जे दर जे जेके अचन सुवाली कोन वन्जन खाली तथा अन्य सुनाकर नाचने झूमने पर मजबूर कर दिया।

इस अवसर पर गुरू ग्रंथ साहिब में पाठ नित नेम एवं शब्द कीर्तन हुआ।सन्त हाथीरराम दरबार के प्रवक्ता और पूज्य सिंधी पंचायत अजमेर के महासचिव रमेश लालवानी ने जानकारी प्रदान करते हुए बताया कि प्रातःकाल 8 बजे से 10 बजे तक सुखमनी साहिब का पाठ 10.30 से 1.30 बजे तक रोट के प्रसाद बनाने का कार्यक्रम,सांयकाल 4 बजे से 6 बजे तक पूज्य झूलेलाल साहिब के बहिराणे की सवारी का आयोजन हुआ।

भगत राधूराम एवं उनकी मंडली के सत्संग प्रवचन भी हुए संझा आरती हुई। नानक गजवानी ने बताया कि मंगलवार 06 मार्च को प्रातः काल 10 से 11 बजे तक अखण्ड पाठ साहित में भोग,11 बजे से 1.30 बजे तक शहर एवं बाहर से आये हुए सन्त महात्माआंे के सत्संग प्रवचन,1.30 बजे से 3.30 तक सन्त महात्माओ एवं आम संगत के लिए आम भण्डारे का आयोजन एवं 3.30 से बच्चो के सामूहिक मुण्डन एवं जनेउ धारण करने का कार्यक्रम सांयकाल 5.30 बजे से 8 बजे तक दरबार धाम में स्थापित विभिन्न सन्तो  महात्माओ की समाधियों पर गुलाल से धूडियो संतों महात्माओ संग होली  कार्यक्रम,रात्रि 8 से 9 संझा आरती और रात्रि में 10 बजे से 12 बजे तक सिन्धी भक्तिरस के गीत संगीत के रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा।बुधवार 07 मार्च को प्रातः काल 4 बजे से मेले का समापन का महापल्ल्व साहिब कार्यक्रम छेज डांडिया शहनाई की धुन के साथ आयोजित किया जायेगा।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.