बिहार के जमुई में नक्सलियों का तांडव, स्कूल पर हमले में 2 ग्रामीणों की हत्या - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

बिहार के जमुई में नक्सलियों का तांडव, स्कूल पर हमले में 2 ग्रामीणों की हत्या

jamui, bihar, Jamui news, naxalites, attack in jamul, naxalites attack, bihar naxalites, jamui naxalites attack, naxalites attack in jamui bihar
जमुई। एक ओर जहां पूरा देश होली के रंग में रंगा हुआ था, वहीं दूसरी ओर बिहार के जमुई में हथियारबंद नक्सलियों एक स्कूल पर हमला कर खून की होली खेली है। जमुई में करीब दो दर्जन हथियारबंद नक्सलियों ने एक स्कूल पर ​हमला कर दो ग्रामीणों की गोली मारकर हत्या कर डाली और सभी ग्रामीणों की हाथ-पैर बांधकर जमकर पिटाई भी की। नक्सलियों ने इस वारदात को शनिवार तड़के अंजाम देते हुए सरकारी स्कूल पर हमला किया।
 

नक्सलियों के इस हमले में दो ग्रामीणों की गोली मारकर हत्या की दी गई। दोनों मृतक आपस में सगे भाई थे। इसके साथ ही नक्सलियों ने मौके पर मौजूद सभी ग्रामीणों को भी  उनके हाथ—पैर बांधकर जमकर मार पीटा। घटना नक्सल प्रभावित जमुई जिले के बरहट थाना क्षेत्र के पचेश्वरी स्कूल की है, जहां घटना के बाद इलाके में पुलिस कैंप कर रही है। घटनास्थल पर भारी संख्या में पुलिस व अद्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है।
 

जानकारी के अनुसार, देर रात नक्सलियों ने पचेश्वरी स्कूल को घेर लिया और सभी ग्रामीणों की उनके हाथ-पैर बांधकर जमकर पिटाई की। इस दौरान नक्सलियों ने दो ग्रामीणों की गोली मारकर हत्या भी कर डाली। ये दोनों ग्रामीण रिश्ते में सगे भाई थे। गौरतलब है कि इससे पूर्व साल 2017 में जुलाई के महीने में नक्सलियों ने बरहट थाना क्षेत्र के कुमरतरी गांव में हमला कर तीन ग्रामीणों की हत्या कर दी थी। 

इस हमले के बाद जिला प्रशासन ने ग्रामीणों को बरहट थाना के पचेश्वरी सरकारी स्कूल में  विस्थापित कर उनके रहने की व्यवस्था की थी। वहीं इस घटना के बाद 200 से ज्यादा ग्रामीण गांव से पलायन कर गए थे। मलयपुर थाना के पत्नेश्वर पहाड़ पर एक महीने गुजारने के बाद ग्रामीणों को 3 दिसम्बर को विद्यालय में शिफ्ट कराया गया था। वहां शिफ्ट कराने से पहले ग्रामीणों ने नक्सली कार्रवाई की आशंका जताई थी।
 

ग्रामीणों द्वारा पहले ही जताई जा चुकी आशंका के मुताबिक ही बीती रात करीब दो दर्जन हथियारबंद नक्सलियों ने यहां हमला कर दिया और ग्रामीणों से मारपीट के साथ ही दो लोगों की हत्या कर दी। इन हथियारबंद नक्सलियों में पुरूषों के साथ—साथ महिलाएं भी शामिल थीं। मारे गए दोनों ग्रामीणों की पहचान मदन कोड़ा और प्रमोद कोड़ा के रूप में ​की गई है। वहीं घटना के बाद विस्थापित ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। विस्थापित परिवार पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगा रहे हैं।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.