विश्व विरासत दिवस पर ड्राइंग प्रतियोगिता हुआ आयोजन, एक हजार से अधिक विद्यार्थियों ने लिया भाग - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

विश्व विरासत दिवस पर ड्राइंग प्रतियोगिता हुआ आयोजन, एक हजार से अधिक विद्यार्थियों ने लिया भाग

अजमेर। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि भारत एक विपुल एतिहासिक एवं सांस्कृतिक विरासत वाला देश है। देश के युवाओं को अपने इतिहास और संस्कृति से सीख लेकर भारत को पुनः विश्व के सर्वोच्च सोपान पर खड़ा करना होगा। प्रदेश के सभी स्कूली विद्यार्थियों को उनके आसपास के इतिहास, कला एवं संस्कृति से रूबरू कराने के लिए सभी उच्च माध्यमिक विद्यालयों में हैरिटेज क्लब स्थापित किए जाएंगे।
   
शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने आज विश्व विरासत दिवस के अवसर पर पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग राजस्थान, पृथ्वीराज फाउंडेशन, इन्टेक अजमेर चैप्टर व लोक कला संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित ड्राइंग प्रतियोगिता में शिरकत की। उन्होंने कहा कि कला संस्कृति एवं विरासत हमारे शहर की आत्मा होती है। इनके बिना शहर सुनसान व जीवन नीरस सा नजर आता है।
   
देवनानी ने ड्राइंग प्रतियोगिता का अवलोकन कर बच्चों को सीख देते हुए कहा कि हमारी विरासत हमारी असली पहचान है इसे संजोए रखना हम सब का कर्तव्य है। पृथ्वी हमारी माता समान है व हम सबका भरण पोषण करती हैं, उसे स्वच्छ व हरा भरा रखना हमारा कर्तव्य ही नहीं अपितु अनिवार्य भी है। उन्होंने कहा की विद्र्याथियों द्वारा विरासत एवं पृथ्वी संरक्षण का संदेश देते हुए अपनी परिकल्पनाओं से बनाये गए चित्रों को प्रर्दशित किया जाएगा वे अवश्य ही समाज में संदेश देंगे। वर्तमान दौर में ग्लोबल र्वामिंग हमारे सामने एक बड़ी समस्या बन कर खड़ी है जिससे निजात पाने के लिए हम सभी को सक्रिय होना होगा। हमें प्रदूषण को रोकने के लिए अधिकाधिक प्रयास करने होंगे। उन्होंने घोषणा की कि राजस्थान के सभी उच्च माध्यमिक विद्यालयों में हेरिटेज क्लब बनाए जाएंगे। यह क्लब स्थानीय हैरिटेज ईमारतों, कला एवं संस्कृति के संरक्षण एवं विद्यार्थियों को उनके महत्व के प्रति जागरूक करने का काम करेंगे।
   
इन्टेक अजमेर चैप्टर के महेंद्र विक्रम सिंह ने कहा कि अजमेर की ऎतिहासिक आनासागर झील और राजकीय संग्रहालय को यूनेस्को की वल्र्ड हेरिटेज साइट्स की सूची मेे शामिल करवाना चाहिए।
   
पृथ्वीराज फाउंडेशन के संयोजक दीपक शर्मा ने बताया की राजकीय संग्रहालय के प्रांगण में विश्व विरासत दिवस के अवसर पर अजमेर में पहली बार इस प्रकार का आयोजन किया गया। जिसमें विभिन्न विद्यालयों के करीब 1000 विद्यार्थियों व स्वतंत्र कलाकारों ने भाग लिया। प्रतियोगिता तीन वर्गों में रही। प्रथम वर्ग में कक्षा पांचवी से आठवीं, द्वितीय वर्ग में कक्षा 9वीं से 12वीं व तृतीय वर्ग में कॉलेज विद्यार्थियों और स्वतंत्र कलाकारों ने भाग लिया।
   
लोक कला संस्थान के निदेशक संजय कुमार सेठी ने बताया कि सभी प्रतिभागियों ने खूबसूरत ड्राइंग बनाई जिसमें अजमेर सहित देशभर के हेरिटेज मॉन्यूमेंट्स व क्लीन अर्थग्रीन अर्थ का संदेश देते हुए चित्र बनाए गए। राजकीय संग्रहालय के अधीक्षक नीरज त्रिपाठी जानकारी देते हुए बताया की इस विश्व विरासत दिवस पर संग्रहालय निखरे हुए नवीन स्वरुप में सामने आया है। पहले इसमें मात्र 3 दीर्घाएं थी लेकिन अब आधुनिक लाईट, म्यूजिक सिस्टम व श्रेष्ठ प्रर्दशित 8 दीर्घाएं तैयार है जो की अजमेर में पर्यटकों के लिए नया आकर्षण का केंद्र बन रहा है।
   
प्रतियोगिता आयोजन में संजय शर्मा, देवेंद्र गर्ग, अनिल जैन, अमित बजाज, अंजू जैन, प्रियंका सेठी, कुसुम र्शमा, रेनू शर्मा, घनश्याम जांगिड़, नितिन सिंह, प्रशांत कुकरेती, राजेश कश्यप, अलका शर्मा, इंदु खंडेलवाल, मिनाक्षी मंगल आदि का सहयोग रहा । इस दौरान शिक्षाविद के के.शर्मा, रूमा आजम, जे.पी.भाटी, चंद्रेश साँखला सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.