2 अप्रैल को भारत बंद के उपद्रव से आहत RSS कार्यकर्ता ने किया आत्मदाह, 80 फीसदी से ज्यादा झुलसा - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

2 अप्रैल को भारत बंद के उपद्रव से आहत RSS कार्यकर्ता ने किया आत्मदाह, 80 फीसदी से ज्यादा झुलसा

jaipur, rajasthan, self immolation, rss worker self immolation, self immolation in jaipur, sc st act, supreme court, bharat bandh, jaipur news, rajasthan news
जयपुर। एससी/एसटी एक्ट में संशोधन को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश के विरोध में 2 अप्रैल को देशभर के दलित संगठनों की ओर से रखे गए भारत बंद के दौरान हुए उपद्रव से आहत होकर राजधानी जयपुर में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के एक कार्यकर्ता ने खुद को आग लगाकर आत्मदाह का प्रयास किया है। आत्मदाह के प्रयास में RSS कार्यकर्ता 80 फीसदी से ज्यादा झुलस गया, जिसे एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है और बर्न वार्ड में उसका उपचार किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार, आत्मदाह करने वाला RSS कार्यकर्ता की पहचान रघुवीर शरण के रूप में हुई है, जो वैषाली नगर स्थित आम्रपाली सर्कल के पास ही मेडिकल की एक दुकान चलाते हैं। बताया जा रहा है कि रघुवीर ने रविवार के दिन खुद पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली। आत्मदाह के प्रयास के चलते इलाके में हड़कंप मच गया। इतना ही नहीं, खुद को आग के हवाले करने के बाद रघुवीर करीब 100 मीटर तक दौड़ता हुआ भारत माता की जय के नारे लगाते रहा। रघुवर को जलता देख आसपास के लोगों ने तुरंत ही उस पर पानी डालकर आग बुझाने की कोशिश की और उसे अस्पताल पहुंचाया।

पुलिस को दिए बयानों में RSS कार्यकर्ता ने समाज में फैल रही कटुता से परेशान होकर खुद को आग लगाने की बात कही है। वहीं पुलिस का कहना है कि शुरूआती जांच में रघुवीर शरण ने घरेलू परेशानी से परेशान होकर खुद को आग लगाईं। रघुवीर ने बयान में कहा कि प्रदर्शन के दौरान जिस तरह से ऊंची जातियों के खिलाफ अपशब्द कहे गए, उन्हें निशाना बनाया गया, इससे दुखी होकर उन्होंने यह कदम उठाया है।


वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि रघुवीर शरण क्राउन प्लाजा स्थित फ्लेट में रहते हैं और नर्सरी सर्किल के पास ही उनकी किरण मेडिकल्स के नाम से उनकी मेडिकल की दुकान भी है। वे रोजाना आम्रपाली सर्किल के पास आरएसएस की शाखा लगाते हैं। लोगों का कहना है कि वह बीते कुछ दिनों ने देश में बढ़ रही कटुता को लेकर बातें करते थे, लेकिन किसी को ये उम्मीद नहीं थी कि वो इस तरह का कदम भी उठा लेंगे।

गौरतलब है कि इससे पूर्व रघुवीर ने सोशल मीडिया में एक पत्र भी वायरल किया था, जिसमें उसने लिखा है कि स्वप्न में मैंने भारत माता की वह करुण चित्कार सुनी और देखा कि चारों तरफ गिद्ध मंडरा रहे हैं। जब हम दूसरों के बहकावे में आ जाते हैं तो चाहे कोई भी हो, उसका स्वयं का विवेक शून्य हो जाता है। भाई से भाई को लड़वा कर अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाहते हैं।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.