अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पटेल स्टेडियम पूरा भरा अभ्यासियों से सीढ़ियों पर भी किये योगासन - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पटेल स्टेडियम पूरा भरा अभ्यासियों से सीढ़ियों पर भी किये योगासन

अजमेर। विश्व योग दिवस के अवसर पर गुरूवार को पटेल स्टेडियम में अजमेर वासियों ने योगासन किये। प्रातः 7 बजे तक पटेल स्टेडियम पूरा अभ्यासियों से भर गया। देरी से आने वालों को स्टेडियम की सीढ़ियों पर योगासन करने पड़े। यह अजमेर शहर का योग के प्रति जुनून है। कार्यक्रम में पादहस्तासन, अर्द्धचक्रासन व त्रिकोणासन के प्रति अपार उत्साह दिखा।

पूर्ण अनुशासित माहोल में स्टैडियम के मैदान में आयोजित इस जिला स्तरीय कार्यक्रम में शिक्षाराज्य मंत्री वासुदेव देवनानी, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल, नगर निगम महापौर धर्मेंद्र गहलोत,  राजस्थान राज्य अल्पसंख्यक आयोग एवं दरगाह कमेटी के सदस्य मुनव्वर खां, अजमेर डेयरी अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी, जिला प्रमुख वंदना नोगिया, पूर्व सांसद रासासिंह रावत,  जिला कलेक्टर आरती डोगरा, पुलिस महानिरीक्षक मालिनी अग्रवाल, जिला पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र सिंह, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त के. के. शर्मा आयुक्त नगर निगम हिमांशु गुप्ता, अतिरिक्त निदेशक आयुर्वेद विभाग आनन्द कुमार शर्मा ने योग किया। इसमें  हार्टफुलनेस, शिक्षा विभाग, एनसीसी,  सीआरपीएफ, हाडी रानी बटालियन, स्काउट गाईड केडेटस, नेहरू युवा केन्द्र, प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी सहित सरकारी व निजी विद्यालयों के सैकड़ों हजारों साधकों ने एक साथ योगाभ्यास किया।

समारोह में पतंजलि योग समिति के विवेक चण्डक, परमजीत कौर दूआ, सुशान्त ओझा, कमलेश पुरोहित, पप्पूलाल चोयल, जसवंत सोलंकी, रश्मि केवलरमानी, दिव्यांशु ओझा, मुकेश कुमार गौड ने मुख्य व उपमंच पर योगाभ्यास का प्रदर्शन किया।

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर अजमेर जिले आयोजित विभिन्न स्थानों पर लगभग पौने दो लाख व्यक्तियों ने योगाभ्यास में भाग लिया। अकेले अजमेर मुख्यालय पर आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में लगभग 14 हजार से अधिक नागरिकों ने भाग लिया। उन्होंने योग का अभ्यास कर इसके गुणों को जाना एवं इसे जीवन में आत्मसात करने का संकल्प लिया। योग दिवस पर जिले में सभी पंचायत समिति मुख्यालयों एवं ग्राम पंचायतों में भी कार्यक्रम आयोजित किए गए। सबके प्रयासों से विश्व आज योग करके सामन्जस्य एवं शांति का संदेश दे रहा है। पूरा विश्व भारत से प्रेरणा लेकर योग का अभ्यास कर रहा है। योग शरीर की विभिन्न बीमारियों से बचाने तथा उनका निदान एवं निवारण करने में सक्षम व्यायाम पद्धति है। कार्यक्रम में हर धर्म, समुदाय, जातियों के लोगोें ने भाग लिया।

सीखे आसन, लगाया ध्यान

जिला स्तरीय योग दिवस कार्यक्रम में पतंजलि योग समिति एवं भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के  जिला संयोजक नेमीचंद तंबोली एवं उनके सहयोगी प्रशिक्षकों ने लोगों को योग के विभिन्न आसन एवं उनके शारीरिक व मानसिक लाभ का प्रशिक्षण दिया। कार्यक्रम के आरम्भ में जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने धनवंतरी के चित्र के समक्ष दीपप्रज्जवलन एवं पुष्प अर्पित कर सबके उत्तम स्वास्थ्य की कामना की। योगाभ्यास की शुरूआत ऋग्वेद वर्णित प्रणवगान एवं प्रार्थना से हुई। इसके पश्चात शिथिलीकरण के विभिन्न अभ्यास करवाए गए। इसमें ग्रीवा चालन, स्कंध, कटि एवं घुटना संचालन करवाए गए। योगाचार्यों ने शहरवासियों को खड़े होकर किए जाने वाले ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्द्ध चक्रासन, त्रिकोणासन का अभ्यास करवाकर इनसे होने वाले लाभ की जानकारी दी। इसके बाद बैठ कर किए जाने वाले भद्रासन, वज्रासन, उष्ट्रासन, शशकासन एवं वक्रासन का अभ्यास कराया गया।  योगाचार्यों ने उदर के बल लेट कर किए जाने वाले मकरासन,  भुजंगासन एवं शलभासन  तथा पीठ के बल लेट कर किए जाने वाले सेतुबन्धासन, उत्तानपादासन, अर्द्र्धहलासन, पवनमुक्तासन एवं शवासन का अभ्यास भी कराया। इसके पश्चात शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के लिए अति उत्तम माने जाने वाले कपालभाति, अनुलोेम-विलोम, शीतली, भ्रामरी प्राणायाम एवं ध्यान का अभ्यास कराया गया। इसके पश्चात मन को संतुलित रखकर आत्मविकास करने तथा विश्व में शांति, आंनन्द तथा स्वास्थ्य के प्रचार का संकल्प किया गया। शांति पाठ के साथ योगाभ्यास का समापन हुआ।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.