तेजी से चल रहा है एलीवेटेड रोड का काम : कलेक्टर - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

तेजी से चल रहा है एलीवेटेड रोड का काम : कलेक्टर

अजमेर। अजमेर शहर को यातायात की सबसे बड़ी समस्या से मुक्ति दिलाने वाले एलीवेटेड रोड का काम शुरू कर दिया गया है। रोड के निर्माण के लिए प्रथम चरण में किए जाने वाले जियो टेक्निकल इन्वेस्टिगेशन, मिट्टी परीक्षण, सर्वे एवं अलाइनमेंट के कार्य पूरे हो गए हैं। एलीवेटेड रोड का निर्माण कार्य पुरानी आरपीएससी भवन के सामने से इस तरह शुरू किया जाएगा की कम से कम यातायात बाधित हो।
   
जिला कलेक्टर आरती डोगरा ने आज अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी हिमांशु गुप्ता, ठेकेदार फर्म एवं अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर एलीवेटेड रोड निर्माण कार्य की समीक्षा की। बैठक में अधिकारियों ने जानकारी दी कि एलीवेटेड रोड का निर्माण विभिन्न चरणों में पूरा होना है। कार्य के प्रथम चरण के तहत जियो टेक्निकल इन्वेस्टिगेशन, मिट्टी परीक्षण, रोड के शुरू से अंत तक का सर्वे एवं अलाइनमेंट कार्य पूरा कर लिया गया है। इस सर्वे एवं अलाइनमेंट को स्मार्ट सिटी लिमिटेड की सिटी लेवल एडवाइजरी फोरम तथा जयपुर के एमएनआईटी से तकनीकी अनुमोदन प्राप्त हो चुका है। इसका थर्ड पार्टी प्रूफ चैक देश के विख्यात तकनीकी संस्थान आईआईटी दिल्ली या मुम्बई से कराया जाएगा ताकि किसी तरह की कमी की गुंजाइश ना रहे।
   
उन्होंने जानकारी दी कि एलीवेटेड रोड का निर्माण कार्य पूराने आरपीएससी भवन से शुरू किया जाएगा। कार्य इस तरह से किया जाएगा कि यातायात कम से कम बाधित हो। अजमेर का एलिवेटेड रोड कई मायनों में खास है। करीब 220 करोड़ रूपए की लागत से यह एलिवेटेड रोड दिल्ली एवं जयपुर मेट्रो की कंक्रीट एवं स्टील स्ट्रक्चर की आधुनिक तकनीक से बनेगी जो सिंगल पिलर पर बनेगी। सिंगल पिलर पर बनने के कारण सड़क के नीचे मूल सड़क पर डिवाईडर रोड यथावत रहेगी जिससे आवागमन में कोई कठिनाई नहीं आएगी।
   
उन्होंने बताया कि रोड पुरानी आरपीएससी से गांधी भवन एवं मार्टिण्डल ब्रिज तक तथा दूसरी शाखा गांधी भवन से महावीर सर्किल तक तैयार की जाएगी। इसके बन जाने से शहर में वैशाली नगर, शास्त्री नगर, पुष्कर रोड, जयपुर रोड  नसीराबाद रोड, ब्यावर रोड, श्रीनगर रोड आदि क्षेत्र में आवागमन में परेशानी से निजात मिल सकेगी। उन्होंने बताया कि यह रोड लगभग 3 किलोमीटर की होगी। एलीवेटेड रोड मार्टिंडल ब्रिज से आगरा गेट वाया गांधी भवन (चार लेन सड़क) तक कुल 1.60 किलोमीटर तथा गांधी भवन से पुरानी आरपीएससी तक (दो लेन सड़क) 1.10 किलोमीटर की होगी। सड़क के बन जाने से कॉलेज, चिकित्सालय, बस स्टैण्ड आने वालों को काफी सुविधा मिलेगी। यह कार्य पूर्ण होने की अवधि दो वर्ष निर्धारित की गई है। सड़क निर्माण कार्य सिम्फोनिया एंड ग्राफिक्स कम्पनी द्वारा किया जा रहा है।
   
वर्तमान में इस मार्ग को पूरा करने में 20 से 25 मिनट का समय लगता है। एलीवेटेड रोड बन जाने से दूरी को 5 मिनट से भी कम समय में किया जा सकता है।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.