पढ़ो आगे बढ़ो तभी मिलेगी पहचान : कलेक्टर - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

पढ़ो आगे बढ़ो तभी मिलेगी पहचान : कलेक्टर

अजमेर। जिला कलेक्टर आरती डोगरा ने कहा कि आज प्रत्येक क्षेत्र में बालिकाओं का वर्चस्व है। छोटे-छोटे गांव और ढाणियों से निकलकर बालिकओं ने परचम फहराया है। बालिकाएं मन लगाकर पढ़ें, पूरी मेहनत से शिक्षा ग्रहण करें तथा अपनी पसंद के क्षेत्र में जाएं। यह मेहनत बेकार नहीं जाती, इसीसे बालिकाओं को पहचान मिलेगी।
   
जिला कलेक्टर आरती डोगरा ने आज तबीजी और नदी गांवों का दौरा किया। उन्होंने शिक्षा के प्रति जिले में चलाए जा रहे अभियान के तहत तबीजी गांव में राजकीय शारदे एवं कस्तूरबा आवासीय विद्यालयों में रहकर पढ़ने वाली बालिकाओं से संवाद किया। उन्होंने दोनाें छात्रावासों का निरीक्षण कर बालिकाओं से व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने प्रत्येक कक्ष में जाकर वहां रहने वाली बालिकाओं के रहन-सहन तथा अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी ली तथा प्रबंधन को निर्देशित किया।
   
जिला कलेक्टर ने बालिकाओं से सीधा संवाद कर उनके भविष्य की योजनाओं के बारे में जानकारी ली। बालिकाओं ने आईएएस, पुलिस एवं शिक्षक आदि बनने की इच्छा जतायी तो जिला कलेक्टर ने कहा कि योजनाबद्ध तैयारी करो तभी सफलता मिलेगी। आज ऎसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहां बालिकाओं ने अपना वर्चस्व साबित ना किया हो। प्रत्येक क्षेत्र में लड़कियां बाजी मार रही है।
   
संवाद के दौरान बालिकाओं ने कहा कि आगे की पढ़ायी के लिए शहर जाना पड़ता है। यहां आवागमन के साधनों की कमी है। जिला कलेक्टर ने कहा कि इस संबंध में जल्द व्यवस्थाएं की जाएंगी। छात्रावास में बालिकाओं में उनके साथ फोटो खिचवाने की होड़ लग गयी। कई बालिकाओं ने उनके साथ सेल्फी ली।

ग्रुप बनाकर दें टास्क :
जिला कलेक्टर ने तबीजी ग्राम पंचायत में महात्मा गांधी नरेगा के तहत सड़क निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि नियोजित श्रमिकों को 5-5 का ग्रुप बनाकर टास्क दिया जाए और इसी के अनुसार उनका भुगतान हो। जिला कलक्टर ने श्रमिकों से बात कर सुविधाओं एवं भुगतान की जानकारी ली।

सूरज के परिवार को मिलेगा सरकारी योजनाओं का लाभ :
जिला कलेक्टर नदी गांव के दौरे में प्रधानमंत्री आवास योजनाओं के लाभार्थियों से बात की तथा योजना के तहत बन रहे मकानों का निरीक्षण किया। उन्होंने योजना के तहत लाभार्थी सूरज पुत्र डूंगर के मकान का निरीक्षण किया। उन्होंने सूरज द्वारा महात्मा गांधी नरेगा में किए गए काम तथा उसके खेत पर कृषि के लिए किए जा रहे नवाचारों की प्रशंसा भी की। उन्होंने पीसांगन विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि सूरज एवं उसके परिवार को श्रमिक कार्ड, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, विद्युत एवं अन्य योजनाओं के तहत लाभान्वित किया जाए। इसी तरह उन्होंने चन्दन एवं ग्यारसी के मकानों का भी निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि संवेदनशील होकर कार्य करें तथा पात्र लाभार्थियों को ज्यादा से ज्यादा योजनाओं का लाभा प्रदान करें।

चंचल को मिली हैलमेट लगाने की सीख :
नदी गांव में प्रवेश करते ही जिला कलक्टर को मोटर साईकिल चलाती हुई बालिका चंचल मिली। यह बालिका बाईक को तेज रफ्तार से चला रही थी। जिला कलक्टर ने उसे रूकवाया और पूछा कि रोज इसी रफ्तार से बाईक चलाती हो। उसने कहां हां, तो जिला कलक्टर ने पूछा कि तुम्हारा हैलमेट कहां है। कलेक्टर ने उसे हैलमेट लगाकर बाईक चलाने के फायदे और सुरक्षा के बारे में जानकारी दी। बालिका ने कहा कि मैं आगे से हमेशा हैलमेट लगाकर ही बाईक चलाउंगी। इस अवसर पर कलेक्टर के साथ प्रशिक्षु आईएएस तेजस्वी राणा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.