25 जुलाई को खुलेगा एचडीएफसी एसेट का आईपीओ, 27 को होगा बंद - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

25 जुलाई को खुलेगा एचडीएफसी एसेट का आईपीओ, 27 को होगा बंद

jaipur, rajasthan, hdfc, HDFC Asset, IPO of HDFC Asset IPO, hdfc asset management ipo,hdfc asset management ipo review,hdfc amc ipo news,hdfc assets management company limited ipo,hdfc amc ipo review,hdfc asset management company limited ipo,hdfc asset management company ltd ipo,hdfc amc ipo date,hdfc asset management company limited,hdfc amc ipo listing,hdfc amc ipo price,hdfc asset management company ipo,hdfc asset management ipo details, business news, latest news
जयपुर। एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड ने 5 रुपए इक्विटी शेयर के 25,457,555 इक्विटी शेयरों का आईपीओ लाने का प्रस्ताव रखा है। कंपनी हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस काॅर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा 8,592,970 इक्विटी शेयरों की और स्टैंडर्ड लाइफ इन्वेस्टमेंट लिमिटेड द्वारा 16,864,585 इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश करेगी। 

इस निर्गम में जनता के लिए 22,177,555 इक्विटी शेयरों तक का शुद्ध निर्गम शामिल है, जिसमें योग्य एचडीएफसी एएमसी के कर्मचारियों द्वारा खरीद के लिए 320,000 इक्विटी शेयरों तक का आरक्षण; योग्य एचडीएफसी के कर्मचारियों द्वारा खरीद के लिए 560,000 इक्विटी शेयरों तक का आरक्षण और योग्य एचडीएफसी शेयरधारकों द्वारा खरीद के लिए 2,400,000 इक्विटी शेयरों तक का आरक्षण भी है। निर्गम और शुद्ध निर्गम में कंपनी की निर्गम-पश्चात चुकता इक्विटी शेयर पूंजी का क्रमशः 12.01 प्रतिशत और 10.46 प्रतिशत शामिल होगा।

बिड/निर्गम बंद होने की तारीख 27 जुलाई, 2018 है। कंपनी और प्रवर्तक विक्रय शेयरधारक बीआरएलएम्स के साथ विचार-विमर्श कर सेबी आइसीडीआर रेगुलेशंस के मुताबिक एंकर निवेशकों की प्रतिभागिता पर विचार कर सकते हैं। एंकर निवेशक की बोली लगाने की तारीख बिड/निर्गम खुलने की तिथि से एक कामकाजी दिन पहले यानी 24 जुलाई 2018 होगी। इस निर्गम के लिए प्राइस बैंड 1,095 रूपये से 1,100 रूपये प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया है। बिड्स न्यूनतम 13 इक्विटी शेयरों एवं उसके बाद 13 इक्विटी शेयरों के गुणक में लगाई जा सकती हैं। इक्विटी शेयरों बीएसई और एनएसई में सूचीबद्ध होना प्रस्तावित है।

इस निर्गम के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (बीआरएलएम्स) कोटक महिन्द्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड, ऐक्सिस कैपिटल लिमिटेड, डीएसपी मेरिल लिंच लिमिटेड, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, सीएलएसए इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, एचडीएफसी बैंक लिमिटेड, आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज लिमिटेड, आईआईएफएल होल्डिंग्स लिमिटेड, जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड, जे.पी. माॅर्गन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, माॅर्गन स्टैनले इंडिया कंपनी प्राइवेट लिमिटेड और नोमुरा फाइनेंशियल एडवायजरी एंड सिक्युरिटीज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड हैं। 

यह निर्गम आइसीडीआर रेगुलेशंस के नियम 26 (1) के अनुसार बुक बिल्डिंग प्रोसेस के माध्यम से लाया जा रहा है। इसके तहत शुद्ध निर्गम का 50 प्रतिशत आनुपातिक आधार पर क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स को आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। इसमें ऐसा प्रावधान है कि कंपनी और प्रवर्तक विक्रय शेयरधारक बीआरएलएम्स के साथ विचार-विमर्श कर अपने विवेक के आधार पर क्यूआइबी हिस्से का 60 प्रतिशत तक एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकते हैं। एंकर निवेशक हिस्से का कम से कम एक-तिहाई हिस्सा सिर्फ घरेलू म्यूचुअल फंडों के लिए आरक्षित होगा। इसे एंकर इन्वेस्टर एलोकेशन प्राइस पर या इससे अधिक दाम पर घरेलू म्यूचुअल फंडों से वैध बिड्स मिलना अनिवार्य हैं।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.