पेयजल लाइनों में लीकेज अभियान चलाकर ठीक करें : कलेक्टर - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

पेयजल लाइनों में लीकेज अभियान चलाकर ठीक करें : कलेक्टर

अजमेर। जिला कलेक्टर आरती डोगरा ने पेयजल अधिकारियों को कहा है कि वे आने वाले समय में पेयजल की आपदा को चुनौती लेते हुए अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करें। लोगों को पानी उपलब्ध कराना हमारी जिम्मेदारी है। लेकिन उसका दुरूपयोग नहीं हो इसकी पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित करें।
   
जिला कलेक्टर शुक्रवार कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित पेयजल अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रही थी। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रत्येक ब्लॉक में नियंत्रण कक्ष स्थापित तत्काल किया जाए। जो 24 घण्टे कार्यरत रहेगा। नियंत्रण कक्ष में रजिस्ट्रर संधारित किया जाएगा। संबंधित अधीशाषी अभियंता रजिस्टर को नियमित रूप से चैक करेंगे तथा शिकायत समाधान का क्रॉस चैक भी बातचीत कर करेंगे।

लीकेज अभियान चलाकर ठीक करें
जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि किसी भी लाइन में लीकेज की शिकायत प्राप्त होते ही संबंधित सहायक अभियंता उसे तत्काल ठीक करेगा। यह उसकी जिम्मेदारी होगी। उन्होंने कहा कि मैन पाइपलाइन से पानी की चोरी किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके लिए यदि पुलिस जाप्ते की जरूरत हो तो उसकी भी मदद ली जाए। निजी टैंकरों को मैन पोइंट से पानी नहीं भरने दिया जाए। उन्होंने अधीक्षण अभियंता को भी निर्देश दिए कि वे पेयजल विभाग के ठेकेदारों से बैठक कर समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।

हैण्डपम्प एवं सिंगल फेस मोटर तत्काल मरम्मत हो
जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि हैडपम्प खराब होने की शिकायत प्राप्त होते ही उसे तत्काल ठीक किया जाए। इसके लिए हैंडपम्प की समस्त सामग्री पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहे। उन्होंने हैंडपम्प मरम्मत के लिए वाहन आंवटन करने के लिए भी अधीक्षण अभियंता को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि सिंगल फेस मोटर जो खराब पड़ी है उन्हें तत्काल ठीक करायी जाए। साथ ही उनका रजिस्टर भी संधारित किया जाए।

अभियंता फील्ड में रहे
जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि पेयजल वितरण के समय संबंधित अभियंता अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण पर रहेंगे तथा किसी भी समस्या के लिए संयम एवं संवेदनशीलता से समस्या का समाधान करेंगे। उन्होंने निर्देश दिए अभियंता फोन कॉल अनिवार्य रूप से अटेंड करें तथा मोबाइल स्वीच ऑफ नहीं रखे।

अवैध कनेक्शनों को तत्काल हटावें जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि किसी भी क्षेत्र में अवैध कनेक्शन नहीं हो इसके लिए अभियंता अपने -अपने क्षेत्र में नजर रखे। अवैध कनेक्शन पाए जाने पर तत्काल कनेक्शन काटे। पुलिस जाप्ते की जरूरत हो तो उसकी भी मदद ली जाए।
   
बैठक में अधीक्षण अभियंता सत्येन्द्र सिंह समस्त अधिशाषी अभियंता एवं कनिष्ठ अभियंता उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.