25 सितंबर को खुलेगा आवास हाउसिंग फाइनेंस का आईपीओ - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

25 सितंबर को खुलेगा आवास हाउसिंग फाइनेंस का आईपीओ

jaipur, rajasthan, IPO, Initial public offering, Aavas housing finance, jaipur news, rajasthan news, business news, latest news
जयपुर। आवास फाइनेंशियर्स लिमिटेड ने 25 सितंबर 2018 को अपना आरंभिक सार्वजनिक निर्गम लाने का प्रस्ताव रखा है। कंपनी पूंजी जुटाने के लिए प्रति इक्विटी शेयर कीमत जिसमें शेयर प्रीमियम शामिल है। 10 रुपए सम मूल्य के इक्विटी शेयरों का निर्गम लेकर आ रही है। इसमें 4,000 मिलियन रुपए तक के इक्विटी शेयरों का ताजा निर्गम और 16,249,359 इक्विटी शेयरों की आॅफर फाॅर सेल की पेशकश की जा रही है। 

इसमें लेक डिस्ट्रिक्ट होल्डिंग्स लिमिटेड द्वारा 8,815,439 इक्विटी शेयरों, पार्टनर्स ग्रुप ईएससीएल लिमिटेड द्वारा 4,281,907 इक्विटी शेयरों, केदारा कैपिटल आल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट फंड-केदारा कैपिटल एआइएफ 1 द्वारा 236,339 इक्विटी शेयरों, और पार्टनर्स ग्रुप प्राइवेट इक्विटी मास्टर फंड एलएलसी द्वारा 1,879,110 इक्विटी शेयरों और सुशील कुमार अग्रवाल द्वारा 911,564 इक्विटी शेयरों और विवेक विग द्वारा 125,000 इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश की है। निर्गम बंद होने की तारीख 27 सितंबर है। 

इस निर्गम के लिए प्राइस बैंड 818 रूपये से 821 रूपये प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया है। बिड्स न्यूनतम 18 इक्विटी शेयरों एवं उसके बाद 18 इक्विटी शेयरों के गुणक में लगाई जा सकती हैं। इक्विटी शेयरों को बीएसई और एनएसई में सूचीबद्ध होने का प्रस्ताव रखा गया है। इस निर्गम के लिए ग्लोबल को-आॅर्डिनेटर्स बुक रनिंग लीड मैनेजर्स आइसीआइसीआइ सिक्युरिटीज लिमिटेड, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, एडलवीस फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड और स्पार्क कैपिटल एडवायजर्स प्राइवेट लिमिटेड हैं। बुक रनिंग लीड मैनेजर्स एचडीएफसी बैंक लिमिटेड हैं।

यह निर्गम संशोधित सिक्युरिटीज काॅन्ट्रैक्ट्स रूल्स, 1957 के नियम 19 (2)(बी) के अनुसार लाया जा रहा है। यह आॅफर संशोधित सेबी आइसीडीआर रेगुलेशंस के नियम 26 (1) के अनुसार, बुक बिल्डिंग प्रोसेस के माध्यम से लाया जा रहा है। इसके तहत शुद्ध निर्गम का 50 प्रतिशत आनुपातिक आधार पर क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स को आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। इसमें ऐसा प्रावधान है कि हमारी कंपनी और प्रमोटर ग्रुप विक्रय शेयरधारक बुक रनिंग लीड मैनेजर्स के साथ विचार-विमर्श कर अपने विवेक के आधार पर एंकर इन्वेस्टर एलोकेशन प्राइस पर क्यूआइबी पोर्शन का 60 प्रतिशत तक एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकते हैं। 

एंकर निवेशक हिस्से का कम से कम एक-तिहाई हिस्सा सिर्फ घरेलू म्यूचुअल फंडों के लिए आरक्षित होगा। इसे एंकर इन्वेस्टर एलोकेशन प्राइस पर या इससे अधिक दाम पर घरेलू म्यूचुअल फंडों से वैध बिड्स मिलना अनिवार्य हैं। एंकर इन्वेस्टर हिस्से में कम अभिदान मिलने या गैर-आवंटन की स्थिति में, शेष पेश किये गये शेयरों को शुद्ध क्यूआइबी हिस्से में जोड़ दिया जायेगा। 

शुद्ध क्यूआबी हिस्से का 5 प्रतिशत आनुपातिक आधार पर सिर्फ म्यूचुअल फंडों के लिए आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। शेष शुद्ध क्यूआइबी हिस्सा आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए सभी क्यूआइबी बिडर्स, जिसमें म्यूचुअल फंड शामिल हैं, के लिए उपलब्ध होगा। इसे निर्गम की कीमत पर या इससे अधिक दाम पर वैध बिड्स मिलना अनिवार्य हैं। यदि म्यूचुअल फंडों के लिए एग्रीगेट मांग शुद्ध क्यूआइबी हिस्से के 5 प्रतिशत से कम रहती है, तो शेष इक्विटी शेयर, जो म्यूचुअल फंड हिस्से में आवंटन के लिए उपलब्ध हैं, को क्यूआइबी के आनुपातिक आवंटन के लिए शेष क्यूआइबी हिस्से में जोड़ दिया जायेगा।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.