5 को शाम से थम जाएगा प्रचार का शोर, असामाजिक तत्वों और शराब बिक्री पर रहेगी पाबंदी - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

5 को शाम से थम जाएगा प्रचार का शोर, असामाजिक तत्वों और शराब बिक्री पर रहेगी पाबंदी

अजमेर। जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने कहा कि आगामी 7 दिसम्बर को जिले के आठो विधानसभा क्षेत्रों में निष्पक्ष, भयमुक्त एवं शान्तिपूर्ण ढ़ंग से चुनाव कराना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। कल 5 दिसम्बर को शाम 5 बजे चुनाव प्रचार का शोर थम जाएगा। असामाजिक तत्वों, चुनाव में गड़बड़ी करने वालों, शराब की अवैध बिक्री और वितरण पर निर्वाचन विभाग की पैनी नजर है। कहीं भी किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। मतदान केन्द्र, 200 मीटर का परिधी क्षेत्र एवं अतिसंवेदनशील और संवेदनशील क्षेत्रों में विभाग की सख्त निगरानी है। कहीं भी कोई भी नियमों का उल्लंघन करते पाया गया तो उसे बख्शा नहीं जाएगा।
   
जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने आज पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह के साथ केकड़ी एवं नसीराबाद विधानसभा क्षेत्रों में रिटर्निंग अधिकारी, एरिया मजिस्ट्रेट, सैक्टर अधिकारी तथा चुनाव से जुड़े पुलिस अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में चुनावी तैयारियों की समीक्षा की गई । बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि आगामी 7 दिसम्बर को पूरे जिले के प्रत्येक बूथ पर शान्तिप्रिय, निष्पक्ष एवं भयमुक्त वातावरण में चुनाव करवाए जाएंगे। चुनाव में किसी भी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है और सख्ती के साथ कदम उठाएगा।
   
उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में प्रत्येक मतदान केन्द्र, उसके 200 मीटर के परिधि क्षेत्र में किसी भी तरह के प्रचार को रोकने के लिए सख्ती के साथ कदम उठाएं। मतदान केन्द्र पर बार-बार दिखायी देने वाले तत्वों पर नजर रखें और संदिग्ध पाए जाने पर कार्यवाही करें। मतदान केन्द्र के 200 मीटर की परिधि में आने वाले किसी भी मकान या दुकान पर किसी भी दल का झण्डा, बैनर या अन्य प्रचार सामग्री दिखायी नहीं देनी चाहिए। परिधि के बाहर राजनैतिक दलों की टेबल पर सिर्फ 2 लोगों की बैठने की व्यवस्था तथा तीन गुणा ड़ेढ़ फीट साइज का बैनर के अलावा कोई अन्य प्रचार सामग्री नहीं होगी।
   
उन्होंने कहा कि प्रत्येक मतदाता तक फोटोयुक्त मतदान पर्ची पहुंचाना बीएलओ की जिम्मेदारी है। अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि प्रत्येक मतदाता तक यह पर्ची पहुंच गई है। दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केन्द्र तक लाने एवं ले जाने तथा मतदान की सुविधा उपलब्घ कराना हमारी जिम्मेदारी है। यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि किसी भी दिव्यांग को असुविधा नहीं हो।
   
उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्र पर बैठने वाले राजनैतिक दलों के एजेण्ट के पास मोबाइल नहीं होना चाहिए। ऎसे एजेण्ट बार -बार अन्दर बाहर भी नहीं जा सकेंगे। मतदान वाले दिन दोपहर 3 बजे के बाद जो भी एजेण्ट अन्दर है वहीं मतदान प्रक्रिया सम्पन्न होने तक केन्द्र में रहेगा। अधिकारी यह ध्यान रखे कि बिना अनुमति वाला कोई वाहन अगर बार -बार मतदाताओं को लाने ले जाने का काम कर रहा है तो उसे रोक कर कार्यवाही की जाए। अनाधिकृत वाहन नहीं चलाए जा सकेंगे।
   
उन्होंने कहा कि अधिकारी ईवीएम, वीवीपेट, मॉक पोल एवं अन्य व्यवस्थाओं पर भी नजर रखें। मतदान के लिए प्रातः 8 से शाम 5 बजे तक का समय निश्चित है। मतदान समाप्ति से एक मिनट पहले पीठासीन अधिकारी बाहर जाकर अवाज लगाएंगे ताकि कोई व्यक्ति वंचित है तो वह मतदान करने आ सके। शाम 5 बजे तक जितने व्यक्ति मतदान केन्द्र में है उन सभी को मतदान का अवसर दिया जाएगा। मतदान दलों के लिए भोजन एवं ठहरने संबंधी व्यवस्थाएं कर दी गई है।
   
जिला पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह ने कहा कि चुनाव में गड़बड़ी करने वालों, थाना क्षेत्र के असामाजिक तत्वों को पाबंद कर दिया गया है। इनके अतिरिक्त कोई व्यक्ति गड़बड़ी करने की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ सख्ती की जाएगी। हमारा मकसद है कि प्रत्येक व्यक्ति भयमुक्त एवं प्रलोभन मुक्त वातावरण में मतदान करने जाए। कल शाम 5 दिसम्बर को शाम 5 बजे प्रचार का शोर थमने के साथ ही जिले में ड्राई डे लागू हो जाएगा। ऎसे में कहीं भी शराब की अवैध बिक्री, परिवहन या वितरण पाया गया तो उसके खिलाफ कार्यवाही होगी।
   
उन्होंने कहा कि एरिया एवं सैक्टर मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्र के पुलिस अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर कार्यवाही करें। सभी जगह पर्याप्त संख्या में पुुलिस बल तैनात कर दिया गया है। बैठकों में दोनों विधानसभा क्षेत्रों के अधिकारी उपस्थित रहे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.