कलेक्टर ने की पेयजल व्यवस्था की समीक्षा, चोरी के प्रकरणों में दर्ज होगी एफ.आई.आर. - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

कलेक्टर ने की पेयजल व्यवस्था की समीक्षा, चोरी के प्रकरणों में दर्ज होगी एफ.आई.आर.

अजमेर। जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा ने पेयजल अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे पेयजल की एक-एक बूंद को सहेजने के लिए कार्य योजना तैयार करें। ताकि आगे आने वाली गर्मियों में पेयजल की कठिनाई न हो। इसके लिए लीकेज एवं चोरी के प्रकरणों में सख्ती से कार्यवाही की जाए।

जिला कलेक्टर शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित पेयजल अधिकारियों के साथ जिले में पेयजल व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे।  उन्होंने कहा कि कही भी लीकेज एवं पेयजल चोरी नजर आए ऐसे में संबंधित के विरूद्ध पुलिस में एफआईआर दर्ज कराएं इसमें किसी प्रकार की कोताही नही बरती जाएं। पेयजल वितरण की नियमित रूप से माॅनीटेरिंग की जाए तथा जहां भी शिकायत प्राप्त हो। उसका तत्काल समाधान भी किया जाए। उन्होंने बीसलपुर से आ रही पेयजल लाइन के कुछ हिस्सा जो बार-बार लीकेज होता है, को एमएस पाइप में शिफ्ट करने के भी निर्देश दिए।

जिला कलेक्टर ने पेयजल चोरी को पकड़ने के लिए उपखण्ड स्तर पर फ्लाईग स्कवायड का गठन करने के निर्देश दिए ताकि यह दल नियमित रूप से भ्रमण करता रहेगा। किसी भी कठिनाई के लिए उपखण्ड स्तर पर संबंधित उपखण्ड अधिकारी से मदद लेकर आवश्यक कार्यवाही की जा सकेगी। चोरी के प्रकरणों में पुलिस की मदद भी ली जाए तथा संबंधित के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई जाए। उन्होंने अवैध कनेक्शन को काटे जाने पर भी जोर दिया ताकि अंतिम छोर तक पेयजल वितरण हो सकें।

उन्होंने निर्देश दिए कि बीसलपुर लाइन में कुछ स्थान ऐसे है जो बार-बार क्षतिग्रस्त होते है। इन स्थानों पर कड़ी निगरानी रखी जाए। यह कार्य सामान्यतः असामाजिक तत्वों द्वारा कर अवैध रूप से पानी का इस्तेमाल करने के कारण होती है। ऐसे लोगों को पकड़कर पाबंद किया जाए। उन्होंने प्रत्येक सहायक अभियंता को भी अपने अपने क्षेत्रा में नियमित रूप से निगरानी करते हुए प्रति सप्ताह अवैध कनेक्शन एवं पानी चोरी करने वाले दो लोगों के विरूद्ध  एफआईआर दर्ज कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बीसलपुर बांध क्षेत्रा में अवैध खेती करने वाले बांध का पानी अवैध रूप से उपयोग में लेते है उनके विरूद्ध भी आवश्यक कार्यवाही की जाए। उन्होंने पेयजल शुद्धीकरण पर भी ध्यान देने के निर्देश देते हुए पानी में क्लोरिन डालने के भी निर्देश दिए।

बैठक में जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता सत्येन्द्र सिंह ने आगामी गर्मियों तक पेयजल आपूर्ति के संबंध में कार्य योजना से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि वर्तमान व्यवस्था को आगामी जुलाई माह तक निरन्तर बनाए रखा जाएगा। गर्मियों के लिए पेयजल की कही कठिनाई ना आएं। इसके लिए कन्टीजेन्सी प्लान भी बना लिया गया है।

इस मौके पर समस्त अधिशाषी अभियंता, सहायक अभियंता एवं कनिष्ठ अभियंता उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.