जिले के आठो विधानसभा क्षेत्रों में शान्तिपूर्ण मतदान संपन्न, लोगों ने उत्साह के साथ किया मतदान - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

जिले के आठो विधानसभा क्षेत्रों में शान्तिपूर्ण मतदान संपन्न, लोगों ने उत्साह के साथ किया मतदान

अजमेर। विधानसभा 2018 के तहत आज जिले के आठाें विधानसभा क्षेत्रों में निर्विघ्न तथा शान्तिपूर्ण मतदान सम्पन्न हुआ। पूरे जिले में लोगों ने उत्साह के साथ लोकतंत्र का महापर्व मनाया। मतदान केन्द्रों पर कतारें लगी रही। प्रशासन ने व्यवस्थाओं पर नजर बनाए रखी।
   
जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा के निर्देशन में आज पूरे जिले के 1966 मतदान केन्द्रों पर मतदान निर्विघ्न सम्पन्न हुआ। कहीं भी किसी तरह की अप्रिय स्थिति सामने नहीं आयी है। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक श्री राजेश सिंह ने व्यवस्थाओं पर नजर बनाए रखी। जिले में मतदान के प्रति लोगों में विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र में विशेष उत्साह देखा गया। महिलाएं विशेष परिधान पहनकर समूह के रूप में मतदान पहुंची और अपना मतदान किया। कई बूथों पर लम्बी -लम्बी कतारे देखी गई।
   
जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने आज प्रातः राजकीय जवाहर उच्च माध्यमिक विद्यालय स्थित केन्द्र पर मतदान किया। उन्होंने कलेक्ट्रेट में अभय कमांड सेन्टर स्थित वेबकास्टिंग सेंटर का अवलोकन कर जिले में मतदान प्रक्रिया का निरीक्षण किया। अभय कमांड सेन्टर स्थित वेबकास्टिंग सेन्टर से जिलेभर के 129 बूथों पर सीधी नजर रखकर मॉनिटरिंग की जा रही थी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रत्येक बूथ के कार्य को देखा। उन्होंने बताया कि आठों विधानसभा क्षेत्रों में एरिया मजिस्ट्रेट, सैक्टर मजिस्ट्रेट तथा अन्य अधिकारियों ने मतदान पर नजर बनाए रखी। पूरे जिले में शान्तिपूर्ण मतदान संपन्न हुआ।

दिव्यांगों को मिली विशेष सुविधाएं
निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार इस बार सुगम मतदान के तहत दिव्यांगों को मतदान की विशेष सुविधाएं प्रदान की गई। जगह-जगह व्हील चैयर द्वारा मतदान कक्ष तक ले जाकर मतदान कराया गया। वहीं दिव्यांगों को घर से लाने ले जाने की भी व्यवस्था स्वीप रथ के माध्यम से की गई। दिव्यांगों की मतदान केन्द्र पहुंचने पर माल्यार्पण कर स्वागत भी किया गया। प्रत्येक बूथ पर दो-दो स्वयं सेवक / स्काउट गाईड ने अपनी सेवाए दी।

75 वर्षीय दृष्टि बाधित लाडा बाई ने किया मतदान
चाचियावास की लाडा बाई 75 वर्ष की हैं। ये दृष्टि बाधित है इन्होंने अपने मतदान के कर्तव्य के बीच में आंखों की रोशनी को आड़े नहीं आने दिया। इन्होंने सहयोगी का हाथ पकड़ा और मतदान केन्द्र आ गई। लाडा बाई ने गर्व के साथ अपने मताधिकार का प्रयोग किया और जोश के साथ कहा कि अगले चुनावों में भी पूरी गम्भीरता से मतदान करूंगी।

अजमेर उत्तर क्षेत्र के सागर उच्च माध्यमिक विद्यालय के बूथ संख्या 30 पर 70 वर्षीय शान्ति देवी ने व्हील चैयर के साथ मतदान केन्द्र पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

दिव्यांगों एवं वृद्धों ने किया स्वयं सेवकों के सहयोग से मतदान
भवानीखेड़ा की चांदी देवी की दिव्यांगता को स्वयं सेवकों का सहारा मिला और सुगमता से मतदान कर सकी। निर्वाचन आयोग द्वारा सुगम्य मतदान की थीम के अनुसार दिव्यांग मतदाता वाले बूथों पर व्हील चैयर उपलब्घ करवायी गई थी। इसी क्रम में भवानीखेड़ा में भी व्हील चैयर तैयार थी। चांदी देवी के बूथ पर पहुंचते ही बूथ पर तैनात स्काउट के स्वयं सेवकों ने बड़े प्रेम से अभिवादन किया और व्हील चैयर पर बैठाकर अन्दर ले गए। मतदान कक्ष पर रैम्प के माध्यम से व्हील चैयर उपर चढ़ी और चांदी देवी सीधे मतदान अधिकारी के पास मत देने पहुंच गई। इन्हें प्राथमिकता से मत दिलाकर स्वयं सेवक पुनः सावधानी से बूथ के बाहर तक लेकर आए। चांदी देवी के लिए यह पहला और अनूठा अनुभव रहा।
   
अजमेर दक्षिण क्षेत्र में बूथ नम्बर 137 पर 94 वर्षीय मुन्नी देवी पत्नी पन्नालाल ने अपने परिजनों के सहयोग से बूथ तक पहुंचकर अपना मतदान किया।

महिला प्रबंधित मतदान केन्द्रों पर महिलाओं ने संभाली बागडोर
   
निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले में 11 महिला प्रबंधित मतदान केन्द्र स्थापित किए गए थे। जहां पहली बार महिलाओं ने मतदान कार्य की बागडोर बखूबी निभाई। यह महिला प्रबंधित मतदान केन्द्र किशनगढ़ में राजकीय बालिका सीनियर सैकण्डरी स्कूल किशनगढ़ लैफ्ट साईड एवं अग्रसेन भवन साउर्थन पार्ट मदनगंज में स्थापित किया गया था। जबकि पुष्कर में राजकीय बालिका सीनियर सैकण्डरी स्कूल रूम नम्बर 13 पुष्कर, अजमेर उत्तर में सेंट स्टीफन सीनियर सैकण्डरी स्कूल माकड़वाली रोड पंचशील एवं सोफिया बालिका कॉलेज अजमेर में, अजमेर दक्षिण के राजकीय आदर्श सीनियर सैकण्डरी स्कूल (बालिका) राजाकोठी गुलाबबाड़ी एवं रघुकुल इंडस्ट्रीयल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट आदर्श नगर में, नसीराबाद के राजकीय बालिका सीनिया सैकण्डरी स्कूल में, ब्यावर के श्री अलख पन्नालाल दिगम्बर जैन सीनियर सैकण्डरी स्कूल में, मसूदा के राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय बरल द्वितीय में तथा केकड़ी के राजकीय बालिका सीनियर सैकण्डरी स्कूल में स्थापित किया गया था।

मॉडल मतदान केन्द्रों को सभी ने सराहा

  • निर्वाचन विभाग द्वारा प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक मॉडल मतदान के रूप में तैयार किया गया था। चुनावों के दौरान इस प्रकार के केन्द्रों का निर्माण पहली बार हुआ है। केन्द्रों पर जाने वाले मतदाताओं को समस्त सुविधाएं उपलब्घ थी और वे केन्द्र की सजावट इस प्रकार देख रहे थे जैसे किसी शादी समारोह में आए हों।




Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.