पेयजल वितरण से पूर्व क्लोरिन एवं बैक्टीरियां की पुख्ता जांच की जाए : कलेक्टर - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

पेयजल वितरण से पूर्व क्लोरिन एवं बैक्टीरियां की पुख्ता जांच की जाए : कलेक्टर

अजमेर। जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा ने पेयजल अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे वर्तमान में मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। इसके लिए पेयजल वितरण से पूर्व पानी में क्लोरिन एवं बैक्टीरियां की पुख्ता जांच की जाए।
   
जिला कलेक्टर सोमवार को समस्त विभागों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आने वाली गर्मियों में पेयजल की कही कठिनाई ना हो इसके लिए कंटीजेंसी प्लान तैयार किया गया है। इसके साथ ही पेयजल वितरण से पूर्व उसकी शुद्धता की परख भी कर ली जाए ताकि किसी प्रकार की मौसमी बीमारी का खतरा ना रहे। उन्होंने कहा कि पेयजल की समस्त टंकियों की सफाई निर्धारित नाम्र्स के अनुसार करते हुए उस पर तिथि भी अंकन करें। इसके साथ ही विभिन्न विद्यालयों एवं छात्रावासों में बने पानी के टैंक की सफाई भी एक निश्चित समय पर की जाए। बैठक में बताया गया गत एक सप्ताह के दौरान 106 अवैध कनेक्शन काटकर 2 के विरूद्ध पुलिस में एफआईआर दर्ज करायी गई है। इसके साथ ही 551 हैण्डपम्प तथा एक हजार 4 लिकेज भी ठीक कराए गए है। विभाग द्वारा गत एक सप्ताह में 220 स्थानों पर क्लोरीन की तथा 79 जगह पर बैक्टीरियां की जांच की गई है। जिसमें कोई गड़बड़ नहीं पायी गई। बीसलपुर से आ रही पाइप लाइन के कुछ हिस्से को एमएस पाइप लाइन बदलने का कार्य परसों से प्रारम्भ होगा। जिसमें 24 घण्टे का शट डाउन लिया जाएगा। गर्मियों में पेयजल से निपटने के लिए ओपन वैल तथा सिंंगल फेस के प्रस्ताव तैयार किए गए है।
   
जिला कलेक्टर ने चिकित्सा सेवाओं की समीक्षा करते हुए निःशुल्क दवा एवं जांच कार्यों की समीक्षा की तथा निर्देश दिए कि प्रत्येक सब सेंटर पर टेमीफ्लू की दवा उपलब्ध रहे साथ ही अधिकतम निःशुल्क दवा एवं जांच की सेवाएं उपलब्ध करायी जाए। चिकित्सक एवं अन्य नर्सिंग स्टाफ एप्रीन का प्रयोग करें। उन्होंने बिजयनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर खराब पड़ी एक्सरे मशीन को भी तत्काल ठीक कराने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए आईर्ईसी गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की तथा इसको और तेज करने के निर्देश दिए ताकि लोगों को बचाव के लिए जागरूक किया  जा सके। उन्होंने ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि विभिन्न कार्यों पर श्रमिकों की संख्या बढ़ायी जाए। सांसद एवं विधायक मद की स्वीकृतियों में जिनकी प्रशासनिक स्वीकृति जारी हो गई है। उनकी वित्तीय स्वीकृति तत्काल जारी करें।
   
उन्होंने अजमेर विकास प्राधिकरण की समीक्षा के दौरान एडीए द्वारा बनाए गए निजी बस स्टैण्ड को आवागमन के लिए प्रभावी बनाने के निर्देश जिला परिवहन अधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि नौसर घाटी पर बने इस बस स्टैण्ड का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित किया जाए। जयपुर रोड पर जलदाय विभाग द्वारा पाइप लाइन का कार्य करा दिया गया है। वहीं विद्युत लाइनों का कार्य 14 फरवरी तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। शहर में एडीए द्वारा तैयार किए गए सिवरेज लाइन, शवदाह गृह तथा 48 कच्ची बस्तियों के नियमन का रिकार्ड नगर निगम को हस्तानान्तरित किए जाने पर भी विचार विमर्श किया गया। बैठक में नगर निगम को शहर में हो रहे अतिक्रमण एवं सिवरेज समस्या को दूर करने के लिए भी निर्देशित किया गया। वहीं श्रम विभाग को बकाया पंजीयन कार्य को तीव्र गति से पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने राज सम्पर्क के बकाया प्रकरणों की भी समीक्षा की तथा 60 दिवस से उपर के बकाया प्रकरणों को तत्काल निस्तारित करने के निर्देश दिए। इसमें ग्रामीण विकास, एडीए, नगर निगम, विद्युत विभाग के प्रकरण अधिक पाए गए।
   
बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर एम.एल.नेहरा, एडीए के आयुक्त निशान्त जैन, नगर निगम के उपायुक्त करतार सिंह, महिला एवं बाल विकास की उप निदेशक डॉ. अनुपमा टेलर सहित समस्त विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.