स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए चिकित्सक रहे मुस्तैद, रघु शर्मा ने की विभागीय कामकाज की समीक्षा - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए चिकित्सक रहे मुस्तैद, रघु शर्मा ने की विभागीय कामकाज की समीक्षा

अजमेर।  चिकित्सा एवं जनसम्पर्क मंत्री
डॉ. रघु शर्मा ने  कहा कि  स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए चिकित्सा अधिकारी मुस्तैद रहे। इस कार्य में किसी भी स्तर पर कोताही नहीं बरती जाएगी। इसके लिए की व्यस्ततम क्षेत्रों में स्क्रीनिंग का कार्य निरन्तर जारी रहेगा।
   
चिकित्सा तथा सूचना एवं जन सम्पर्क मंत्री डॉ. रघु शर्मा मंगलवार को ब्यावर के अमृतकौर राजकीय चिकित्सालय में समस्त चिकित्सा अधिकारियों एवं ब्लाक मुख्य चिकित्सा अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। उन्होेेने बताया कि स्वाइन फलू से बचाव के लिए बी श्रेणी के क्षेत्रों टेमीफ्लू की दवा का वितरण किया गया है, साथ ही समस्त सब सेन्टरों पर भी इसकी उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है। इसकी स्क्रीनिंग के लिए गत 21 से 25 जनवरी तक अभियान के रूप  में पूरे प्रदेश में कार्य किया गया था। यह कार्य निरन्तर जारी रहेगा। विशेषकर व्यस्ततम क्षेत्रों बस स्टेण्ड, रेल्वे स्टेशन, सिनेमाघरों आदि में स्क्रीनिंग कार्य चलेगा।
   
उन्होंने कहा कि चिकित्सा महकमा यह सुनिश्चित करे कि प्रत्येक व्यक्ति स्वाइन फ्लू के लक्षणों और उससे बचाव के उपाय के प्रति सावचेत रहें। गर्भवती महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गो और गंभीर बीमारियों से ग्रसित व्यक्तियों को स्वाइन फ्लू से अधिक खतरा है। इन्हें प्रथम स्तर पर ही सम्पूर्ण उपचार उपलब्ध कराया जाए।
   
उन्होंने बताया कि सभी चिकित्सालयों में  दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। चिकित्सक एवं पेरामेडिकल स्टाफ सभी मुश्तैदी से कार्य कर रहे है तथा स्थिति पूर्ण नियंत्रण मे है। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों से कहा कि वे आम जनता को बेहतर चिकित्सा सुविधा प्रदान करने का प्रयास करें। जहां कोई कमी हो, उसे आने वाले समय में दूर करें। उन्होंने बताया कि ब्यावर का चिकित्सालय सिवायचक भूमि पर बना होने का मामला सामने आया है। इसके लिए जिला कलेक्टर को पत्रावली तैयार कर सक्षम अधिकारी के पास  भिजवाने के निर्देश भी दिये गये है।
   
चिकित्सा तथा सूचना एवं जन सम्पर्क मंत्री  ने कहा कि पीपीपी मोड पर जो चिकित्सा सेवाएं ली गयी है, उनकी संतोषजनक सेवाओ के संबंध में समीक्षा की जानी चाहिए। प्रयास यही रहेगा कि समस्त सेवायें सरकार के पास ही हो। पूर्व में इस संबंंध में हुए एमओयू पर विचार किया जायेगा।
   
बैठक में जिले भर के समस्त ब्लाक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों ने अपने अपने क्षेत्र में स्वाइन फलू बचाव के लिए अभियान के दौरान किये गये कार्यो, टेमीफ्लू दवा वितरण, पॉजीटिव मामले आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।
   
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.के. सोनी ने बताया कि जिले भर में अब तक 42 मामले पॉजीटिव पाये गये है। जिनका समय पर इलाज किया गया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा प्राथमिक स्वास्स्थ्य केन्द्रों पर ऎसा कोई संदिग्ध रोगी पाया जाता है तो उसका तत्काल आब्र्जवेशन किया जाकर दवा उपलब्ध करायी जा रही है।
   
बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. जी.एस. सिसोदिया, सीएमएचओ डॉ. के.के.सोनी, पीएमओ डॉ. एन.के. जैन, समस्त ब्लाक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अािकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.