अजमेर के स्थापना दिवस के अवसर पर संगोष्ठी आयोजित - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

अजमेर के स्थापना दिवस के अवसर पर संगोष्ठी आयोजित

अजमेर। अजमेर को टूरिस्ट डेस्टिनेशन के रूप में विकसित किया जाएगा, पर्यटक बसों का संचालन किया जाएगा व देश विदेश से आने वाले पर्यटकों के लिए ऐसी व्यवस्था की रहेंगी कि पर्यटक अल्प खर्च में अजमेर में भ्रमण कर सके व मात्र 1 दिन नहीं अपितु 2-3 अथवा अधिक दिन तक यहां रुके वह अजमेर के धार्मिक, ऐतिहासिक, प्राकृतिक, साहित्यिक व भौगोलिक सभी श्रेणी के पर्यटन का आनंद ले सकें। जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा ने अजमेर जिला प्रशासन, पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग राजस्थान व अजमेर विकास प्राधिकरण की ओर से  आयोजित  कला उत्सव में अजमेर के 907 स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित संगोष्ठी में व्यक्त किए ।

उन्होंने कहा कि कला व संस्कृति के विकास के साथ हमें मतदान का भी विकास करना है व सभी नागरिकों को वोट देकर अपने अधिकार का उपयोग कर एक कीर्तिमान कायम करना है ।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी व प्रभारी गजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि अजमेर शहर ही नहीं बल्कि अजमेर जिले में कई प्राचीन इमारतें व प्राकृतिक स्थल है जिन का जीर्णोद्धार कर योजनाबद्ध तरीके से अजमेर के पर्यटन को बढ़ावा दिया जा सकता है।

अजमेर विकास प्राधिकरण के आयुक्त निशांत जैन ने कहा कि कला एवं संस्कृति से जुड़ी गतिविधियां अजमेर को अन्य शहरों से अलग पहचान देती हैं व इसी श्रंखला में नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा आयोजित होने जा रहा बुक फेयर भी अजमेर के लिए एक सुनहरा अवसर होगा ।

संगोष्ठी में वक्ता पर्यावरणविद के.के. शर्मा व अनंत भटनागर ने अजमेर में पर्यटन की अपार संभावनाओं को लेकर कई सुझाव दिए।

कला शिविर मैं कैनवस पर नजर आए इंद्रधनुषी रंग

जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा व समस्त अधिकारियों नए कला शिविर का दीप प्रज्वलन द्वारा उद्घाटन किया व राजस्थान के अनेक शहरों से आए ख्यातनाम कलाकारों से मिलते हुए उनकी कार्यशैली को देखा और सराहा। कला शिविर में डॉ अनुपम भटनागर, अशोक  हाजरा, लक्ष्यपाल सिंह राठौड़, प्रहलाद शर्मा, शंभू सिंह, मनोज जोशी, मुकेश कुमावत, सचिन सकलकर, प्रजेष्ठ नागोरा, अलका शर्मा, पुष्पकांत मिश्रा, निहारिका , ऋतु शिल्पी, मृदुला चौरसिया, बनवारीलाल ओझा , राजेश  बुंदेल, राकेश कुमावत, वह योगेश वर्मा अपनी कला का प्रदर्शन कर रहे हैं।

कला प्रदर्शनी देख दर्शक हुए अभिभूत

अजमेर फिलेटलिक ब्यूरो के सदस्यों धरोहरो पर जारी डाक टिकट वह प्रथम दिवस आवरण प्रदर्शित किए, राजेश कश्यप ने पूरा वस्तुओं की प्रदर्शनी लगाई जिसमें प्राचीन ताले, टॉर्च, लैंप घड़ियां अभी प्रदर्शित की । आर्ट कैंप में आए कलाकारों ने पूर्व में बनाई पेंटिंग प्रदर्शित की जिन्हें अतिथियों व दर्शकों ने देखा व अभिभूत हुए ।

आकर्षण का केंद्र बनी स्वीप प्रदर्शनी
जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा मतदान बढ़ाने हेतु जिले में चलाई जा रही स्वीप गतिविधियों की प्रदर्शनी कला उत्सव में आकर्षण का केंद्र बनी। इस प्रदर्शनी में जिले में आयोजित विभिन्न गतिविधियों की चित्र प्रदर्शनी लगाई गई साथ ही वीवीपैट मशीन द्वारा दिन भर आने वाले कला प्रेमियों व पर्यटकों ने जानकारी ली, इसी क्रम में संजय सेठी ने मतदान के लिए प्रेरित करती हुई चित आकर्षक रंगोली बनाई।

आर्ट वर्कशॉप में बच्चों ने सीखी बारीकियां
बुधवार को राजेश बुंदेल ने क्ले मॉडलिंग का प्रशिक्षण दिया व मुकेश कुमावत ने मिनिएचर पेंटिंग की बारीकियां सिखाई। कार्यशाला में मीनू स्कूल, सावित्री स्कूल व ब्लॉसम स्कूल के विद्यार्थियों व फ्लाइंग बर्ड्स संस्थान के सदस्यों ने भाग लिया।




Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.