एक साथ 32 की रवानगी, राजस्थान मीडिया में फिर मौसम 'उठापटक' का - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

एक साथ 32 की रवानगी, राजस्थान मीडिया में फिर मौसम 'उठापटक' का

rajasthan news,hindi news live,rajasthan news hindi,rajasthan news etv,rajasthan news live,rajasthan,rajasthan news aaj ki,rajasthan news today,rajasthan news video,rajasthan news latest,rajasthan news today live,rajasthan latest news,rajasthan news hindi patrika,news live channel,aajtak channel news,latest news,live news hindi channel,hindi news,abp news live,news18 rajasthan,abp news,news18 rajasthan live
जी हां, राजस्थान के मीडिया जगत में एक बार फिर से उठापटक का मौसम नजर आने लगा है, जिसके चलते कई पत्रकारों के रंग उतरते दिख रहे हैं, तो कई नए रंग में रंगे हुए नजर आएंगे। दरअसल, राजस्थान में जगह-जगह बैनर-होर्डिंग्स और ऑटो रिक्शा पर पोस्टर चिपकाकर 'नाम' कमाने वाले और खुद को नंबर वन की फेहरिस्त में शुमार कराने वाले न्यूज चैनल First India News से  एक साथ 32+1 यानि कि 33 कर्मचारियों को निकाला गया है, जिसमें कई पत्रकार, प्रोग्रामर, एंकर और अन्य ऑफिसकर्मी शामिल हैं। बताया जा रहा है कि कॉस्ट-कटिंग के नाम पर एक साथ 33 लोगों को बिना किसी नोटिस के निकाल दिया गया है, हां सांत्वना के नाम पर इन्हें एक महीने की एक्स्ट्रा सैलेरी जरूर दी गई है। एच आर डिपार्टमेंट की ओर से भेजे गए रवानगी के मेल जो बात लिखी गई है, वो इस प्रकार से है...
32+1=33 के इस आंकड़े में 1 नाम ऐसा भी है, जिस पर उसके द्वारा अपने फेसबुक पर एक स्टेटस डालना भारी पड़ गया। फेसबुक पर इस प्रकार का स्टेटस डालने के चलते उसको भी एकबारगी तो विदा कर दिया गया। हालांकि फेसबुक पर एक स्टेटस डालने वाली महिलाकर्मी की आज फिर से इसी चैनल में रि-एंट्री हो गई है, जिसके लिहाज से अब यहां से निकाले जाने वालों का फिगर 32 रह गया है। ऐसे में अब यहां से निकाले गए 32 कार्मिकों के सामने नौकरी का संकट उपज आया है, जिन्होंने दूसरी नौकरी तलाशने के प्रयास भी शुरू कर दिए हैं। इसीलिए तो लिखा है महाराज, 'कई पत्रकारों के रंग उतरते दिख रहे हैं, तो कई नए रंग में रंगे हुए नजर आएंगे।'

बहरहाल, किसी भी प्राइवेट नौकरी में ऐसा होना कोई नई बात नहीं है और ना ही इस चैनल के हाईकमान और हुक्मरानों के लिए ऐसा करना। क्योंकि इस प्रकार की उठापटक का दौर राजस्थान के मीडिया जगत में पहले भी कई बार आ चुका है, जिसका क्रेडिट भी इसी हाईकमान और हुक्मरानों को जाता है। गौरतलब है कि इससे पूर्व इससे भी बड़ी उठापटक का दौर तकरीबन सवा साल पहले आया था, जब इसी हाईकमान और हुक्मरानों की एक अन्य चैनल को छोड़ने के बाद यहां एंट्री हुई थी और उससे पूर्व किसी दूसरे चैनल को छोड़कर दूसरे में एंट्री हुई थी। अब चूंकि यहां बात मीडिया जगत की हो रही है और यह लेख भी मीडियाकर्मियों के लिए ही है तो, यह पहले, दूसरे और तीसरे चैनल के बारे में तो आप सभी मीडियाकर्मी भलीभांती समझते ही हैं। हां, ये जरूर है कि इनमें से कोई भी दूसरा और तीसरा नहीं होना चाहता, क्योंकि तीनों ही खुद को नंबर 1 पर कायम रखते हैं।


मीडिया जगत से जुड़े और भी दिलचस्प किस्से यहां पढ़ें और भी हैं यहां



Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.