चने की फसल में लट ने बोला धावा ,धरतीपुत्र परेशान - RNews1 Hindi Khabar

Header Ads

चने की फसल में लट ने बोला धावा ,धरतीपुत्र परेशान

कोटा । (राजेन्द्र नागर) बून्दी जिले के करवर क्षेत्र के किसानों ने इस साल बड़ी उम्मीदों के साथ अधिकांश क्षेत्र में चने की बुवाई की थी परंतु शायद किसानों के परेशानी के दिन घटने का नाम ही नहीं ले रहा है, पहले फसल अच्छी अंकुरित हुई तो किसानों ने अच्छे उत्पादन की आस सजोई थी लेकिन लगातार हुए बादल व मौसम खराब होने से फसल के ग्रहण लग गए ।

पहले उखठा रोग ने जकड़ लिया तो चूहे भी कुतरने में पीछे नहीं रहे अब जैसे ही रोग की रोकथाम लगी तो फसल में लट का प्रकोप बढ़ गया ।धरतीपुत्र करे तो क्या करें । जानकारी अनुसार  अधिकांश किसानों ने चने की बुवाई की थी फसलें अच्छी अंकुरित हुई और लोगों में उत्पादन को लेकर अच्छी आस जगी थी ।

लेकिन इन दिनों लगातार मौसम बिगड़ने से चने की फसल में लट का प्रकोप नजर आने लगा है किसान रामेश्वर मीणा संग्रामगंज, अशोक गुर्जर कल्याणी खेड़ा, हरिशंकर नागर कांकरिया, बदरूदिन अंसारी करवर ,गौतम प्रसाद गौतम ,महावीर बेरवा ,घनश्याम नागर, मुकेश धाकड़ ने बताया कि इस साल हमने चने की बुवाई की थी लेकिन पिछले 1 सप्ताह से चने की फसल में लट नजर आने लगी है जो पौध पौध पर दिखने लगी है जो पत्तों को चट कर रही है।

उधर लट का प्रकोप नजर आने के बाद कृषि विभाग के अधिकारियों ने किसानों को उम्मीद बंधाई है कि जैसे ही सर्दी बढ़ेगी वैसे ही लट का प्रकोप खत्म हो जाएगा वही अधिक प्रकोप वाले किसानों को दवाई छिड़काव करने की सलाह दी है।

फूल आने से पहले मेलाथियान 5 प्रतिशत पाउडर का 25 किलोग्राम प्रति  हेक्टेयर के हिसाब से भुरकाव करे या क्यूनालफास 25 ईसी एक लीटर प्रति हेक्टेयर के हिसाब से छिडकाव करे।

बुद्धि प्रकाश सैनी कृषि पर्यवेक्षक करवर

किन-किन गांव में है नुकसान

करवर, अरियाली, कल्याणी खेड़ा, बुढ़करवर, कनकपुरा, देवपुरा ,मानी ,केतुदा, कांकरिया, सकतपुरा ,खजूरी, खजूरा, पीपरवाला, अर्जुनपुरा, फटुकड़ा, खेड़ी ,खुरी, शिवदान पुरा, केशवपुरा ,श्रीपुरा, सुंसा, नयागांव, बटावती, जरखोदा, फतेहगंज ,बालापुरा, करीरी, समिधी समेत कई गांव शामिल है।


Get all updates by Like us on Facebook and Follow on Twitter

Powered by Blogger.